ErrorException Message: WP_Translation_Controller::load_file(): Argument #2 ($textdomain) must be of type string, null given, called in /home/u181736367/domains/infoshindi.com/public_html/wp-includes/l10n.php on line 838
https://infoshindi.com/wp-content/plugins/dmca-badge/libraries/sidecar/classes/ATM full form in hindi - एटीएम का फुल फॉर्म क्या है ? -
Atm Ka Full Form, Atm Full form in hindi, एटीएम का फुल फॉर्म क्या है, Atm ka Pura Naam

ATM full form in hindi – एटीएम का फुल फॉर्म क्या है ?

ATM Ka Full Form, Atm Full form in hindi, एटीएम का फुल फॉर्म क्या है, Atm ka Pura Naam क्या है, ATM Full form in English

नमस्कार दोस्तों Infos Hindi में आपका स्वागत है, आज हम आपके लिए एक ओर महत्वपूर्ण जानकारी लेकर आये है, जिसमे हम एटीएम का फुल फॉर्म क्या है ? (ATM full form in hindi) के बारे में बात करने वाले हैं

साथ मे जानेगे की ATM kya hai, एटीएम के कार्य, एटीएम के फायदे ओर एटीएम का फुल फॉर्म से जुड़ी हुई, तमाम जानकारी आज के इस लेख में हम आपको देने वाले है।

दोस्तो आज के समय मे सभी लोग एटीएम का इस्तेमाल अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में करते है, आप भी एटीएम का इस्तेमाल जरूर करते होंगे, क्योकि अपने बैंक खाते से पैसे निकालने का सबसे सही तरीका एटीएम ही है।
 
Atm Ka Full Form, Atm Full form in hindi, एटीएम का फुल फॉर्म क्या है, Atm ka Pura Naam
 
लेकिन दोस्तो आपमें से कई सारे लोग ऐसे भी है, जिन्हें एटीएम का फुल फॉर्म क्या है, नहीं पता होगा, यदि आप भी एटीएम का फुल फॉर्म क्या है के बारे में जानना चाहते है, तो आप सही जगह आये है।
 
दोस्तो आज के इस लेख में हम आपको एटीएम का फुल फॉर्म क्या है ओर ATM Machine से जुड़ी हुई सभी जानकारी देने वाले है, आइये अब बिना वक्त जाया करे, जानते है की ATM kya hai.
 

एटीएम क्या होता है ? (ATM Kya hai)

दोस्तों एटीएम (ATM) एक ऐसी मशीन होती है, जिसकी सहायता से आप 24 घंटे कहीं भी पैसा निकाल सकते हैं इसके लिए आपको कभी भी बैंक की लाइन में खड़े होने की जरूरत नहीं होती है। 

एटीएम आपको हर जगह मिल जाता है, शहर से लेकर गांव तक आपको एटीएम की सुविधाएं मिल जाती है, एटीएम मशीन ने हम सभी की जिंदगी बहुत ही आसान बना दी है।

पहले के जमाने में जब एटीएम नहीं हुआ करता था, तब लोगों को बैंक के पास जाकर पैसे निकालने में बहुत परेशानी होती थी, एक बार पैसा निकालने में पूरा दिन चला जाता था।

जिसके कारण बहुत से लोगों का समय बर्बाद होता था। लेकिन पिछले कुछ सालों में जबसे Science ने तरक्की की है तब से लोगों को एटीएम से पैसे निकालने में सिर्फ 5 मिनट का समय लगता है।

आप आपके एटीएम कार्ड से पूरे भारत में कहीं पर भी किसी भी समय बिना किसी परेशानी के पैसा निकाल सकते हैं। दोस्तो एटीएम से पैसा निकालने के साथ-साथ आप एटीएम के द्वारा कहीं पर भी शॉपिंग कर सकते हैं।

खरीदे हुए सामान का पैसा आप एटीएम के द्वारा दे सकते हैं।  कार्ड के द्वारा पैसे देने पर एटीएम के बहुत सारे फायदे होते है, एटीएम मुख्य रूप से इंडिया के सभी जगह मिल जाता है। आइये अब बात करते है, की Atm ka full form क्या है।

एटीएम का फुल फॉर्म क्या है ?(ATM Full Form in hindi)

एटीएम का फुल फॉर्म Automated Teller Machine होता है। एटीएम की सुविधा सबसे पहले लंदन में 1967 में हुई थी। एटीएम का आविष्कार  John Shepherd-Borron ने किया था। 

तब से लेकर अब तक एटीएम के सुविधाएं अब हर कहीं जगह मिल जाती है। एटीएम से पैसे निकालने के लिए आपको अपने नजदीकी एटीएम सेंटर जाना होता है। 

जहां पर आपको एटीएम कार्ड जो कि एक प्लास्टिक का कार्ड आता है, उसे एटीएम मशीन में लगाना होता है जिसके बाद आपको अपना 4 नंबर का एटीएम पिन दर्ज करना होता है।

जिसके बाद में आपको अपनी राशि दर्ज करने होती है। आप जितने पैसे निकालना चाहते हो, उतनी राशि दर्ज करके आप पैसे निकाल सकते हो। बिना एटीएम पिन के आप पैसे नहीं निकाल सकते हो।

एटीएम कार्ड मुख्य रूप से दो प्रकार का होता है एक तो डेबिट कार्ड और दूसरा क्रेडिट कार्ड होता है। क्रेडिट कार्ड के मुकाबले डेबिट कार्ड का उपयोग ज्यादा होता है। दोनो कार्ड के अलग-अलग महत्व होते है। जिनके बारे में आगे हम बात करने वाले है, आइये अब जानते है, की एटीएम के कार्य क्या है।

एटीएम का कार्य 

दोस्तो एटीएम मशीन को मैकेनिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स और कंप्यूटर उपकरणों को मिलाकर बनाया गया है, जिसके कई सारे महत्वपूर्ण कार्य होते है, जोकि निम्नलिखित है- 

  • गलतियां किये बिना अपने कार्य को सम्पूर्ण करना।
  • किसी भी बैंक के एटीएम से किसी भी बैंक का डेबिट कार्ड लगाकर पैसा निकालना।
  • एटीएम के माध्यम से हम अपनी बैंक राशि का पता कर सकते है।
  • एटीएम मशीन से हम मिनिमम 100 रुपये तक का अमाउंट निकाल सकते है।
  • एटीएम मशीन की मदद से हम फ़ास्ट अर्थात कुछ ही सेकंड में पैसे निकाल सकते है।
  • एटीएम मशीन की मदद से हम पिन बना सकते एवं पिन चेंज कर सकते है।
  • एटीएम मशीन की मदद से हम 100 सिक्युरिटी के साथ अमाउंट निकाल सकते है।
दोस्तो एटीएम मशीन के यह प्रमुख फायदे है, जिनके बारे में अब आपको जानकारी मिल गई होगी, आइये अब जानते है की एटीएम का इतिहास क्या है 
 

एटीएम का इतिहास 

दोस्तो एटीएम के इतिहास की बात करें तो एटीएम का इतिहास बहुत ही ज्यादा दिलचस्प है, बैंको में लोगो की लंबी लाइनों को देखते हुए एटीएम का अविष्कार किया गया, दोस्तो पहली बार जॉन शेफर्ड ने एटीएम मशीन जून 1967 में लंदन के बार्कलेड बैंक की ब्रांच में किया गया था, 
 
जिसके बाद अन्य देशों के लोगो ने भी इसे अपनाया और धीरे धीरे करके सभी देशों में एटीएम का अविष्कार किया गया, पहले एटीएम की सफलता को देखते हुए, सभी देशों ने एटीएम के अविष्कार में रुचि दिखाई और धीरे धीरे एटीएम दुनिया के सभी देशों में फेल गया।
 

डेबिट कार्ड क्या है ?

दोस्तो अब तो आप एटीएम का फुल फॉर्म तो जान ही चुके होंगे, अब बात करते है डेबिट कार्ड के बारे में डेबिट कार्ड का मुख्य उपयोग एटीएम से पैसे निकालने में किया जाता है।
 
डेबिट कार्ड में आपको बैंक का द्वारा कोई भी अडवांस ऋण नहीं दिया जाता है, आपके एकाउंट में जितना पैसा है आप उतना ही पैसा अपने डेबिट कार्ड से एटीएम के द्वारा निकाल सकते है। 
 

डेबिट कार्ड भी कई प्रकार के होते है, Rupay Debit card, Platinum Debit Card, Master Debit Card जैसे कई कार्ड डेबिट कार्ड के अंदर आते है। डेबिट कार्ड के कुछ फायदे भी है, जो कुछ इस प्रकार है।

यह भी पढ़े :

डेबिट कार्ड के फायदे 

  • डेबिट कार्ड का मुख्य काम एटीएम से पैसे निकलना होता है। लेकिन आप इससे शॉपिंग भी कर सकते है।
  • डेबिट कार्ड की मदद से आप फ्लिपकार्ट, ऐमज़ॉन जैसी E-Commerce वेबसाइट से ऑनलाइन शॉपिंग कर सकते है।
  • डेबिट कार्ड से पैसे निकालने में आपको कोई चार्ज नही लगता है। सिर्फ इसमे आपको साल में एक बार एटीएम चार्ज देना होता है,जोंकी बहुत ही कम है।
  • डेबिट कार्ड की मदद से आप मोबाइल रिचार्ज, फ्लाइट बुकिंग, DTH रिचार्ज, बिल भी भर सकते है। 
  • मास्टर डेबिट कार्ड से आप देश मे ही नही बल्कि विदेशों में भी इसकी सहायता से आप लेन-देन कर सकते है।

क्रेडिट कार्ड क्या है ?

क्रेडिट कार्ड का मुख्य उपयोग शहरों में होता है, जिनके बैंक खातों मंथली पैसे क्रेडिट होते है, उन्हें ही क्रेडिट कार्ड का लाभ मिलता है, क्रेडिट कार्ड दिखने में डेबिट कार्ड जैसा होता है।

लेकिन दोनों बहुत से अंतर है। क्रेडिट कार्ड में आपको लिमिट मिल जाती है, अगर आपके बैंक एकाउंट में पैसे नही है। तो भी आप क्रेडिट कार्ड लिमिट लेकर इससे शॉपिंग या ओर कोई इमरजेंसी काम निकाल सकते है।

ओर जब आपके बैंक एकाउंट में पैसे आ जाते है, तो बैंक उसे आपके खाते से डेबिट कर लेता है। क्रेडिट कार्ड भी कई प्रकार के होते है, क्रेडिट कार्ड के बहुत से फायदे है, जो कुछ इस प्रकार है।

यह भी पढ़े :

क्रेडिट कार्ड के फायदे 

  • क्रेडिट कार्ड की मदद से आप एटीएम से पैसे निकालने के साथ साथ आप शॉपिंग भी कर सकते है।
  • क्रेडिट कार्ड से शॉपिंग करने पर आपको बहुत से ऑफर मिल जाते हैं, जिनका फायदा आप उठा सकते हैं।
  • अगर आपके बैंक एकाउंट में पैसे नहीं है, तो भी डेबिट कार्ड में आपको लिमिट मिल जाती हैं जिसकी सहायता से आप शॉपिंग भी कर सकते है और इमरजेंसी में आप पैसे भी निकल सकते है।
  • क्रेडिट कार्ड का उपयोग इंडिया में ओर इंडिया के बाहर कही भी कर सकते है। 
  • आपातकालीन समय मे क्रेडिट कार्ड का उपयोग करना आसान होता है।
  • क्रेडिट कार्ड से भी आप मोबाइल रिचार्ज, DTH रिचार्ज बिल, पेमेंट कर सकते है। क्रेडिट कार्ड में आपको बहुत से ऑफर मिल जाते है।

दोस्तो यह क्रेडिट कार्ड के कुछ फायदे थे जो आपको हमने बताये, एटीएम के भी बहुत से फायदे होते है। जो कि कुछ इस प्रकार से है

एटीएम के फायदे – Advantages Of ATM

  • एटीएम की सुविधा पूरे भारत मे आपको 24 घण्टे मिलती है, आप चाहे दिन हो या रात कभी भी पैसे निकाल सकते है।
  • एटीएम की सुविधा धीरे-धीरे गांवों तक भी पहुँच रही है। जिससे कि ग्रामीण इलाकों में भी अब पैसे निकालने के लिए परेशानी नहीं रहेगी।
  • एटीएम की सुविधाएं अब हर एक बैंक देती है। बैंक खाता खुलवाते वक्त आपको एटीएम कार्ड के लिए बैंक वालो को जरूर बोलना चाहिए।
  • एटीएम से पैसे निकालने के लिए आपको पिन की जरूरत होती है, अगर आपका एटीएम कार्ड कही गिर भी जाता है, तो भी कोई आपके कार्ड के द्वारा पैसे नहीं निकाल सकता है।
  • अगर आपका एटीएम कार्ड SBI का है, तो आप Axis बैंक के एटीएम से पैसे निकाल सकते है, लेकिन कभी कभी इसमे आपको थोड़ा बहुत चार्ज देना होता है।
दोस्तो यह एटीएम (ATM) के प्रमुख फायदे थे, जो हमने आपको बताये, आसा करते है की एटीएम का फुल फॉर्म क्या है (ATM Full form In hindi) से संबंधित यह जानकारी पसंद आई होगी।
 

Atm ka Full form से संबंधित FAQ

दोस्तो Atm ka Full Form क्या है, से संबंधित आपके मन मे ओर सवाल होंगे जिनके जवाब आपको FAQ के माध्यम से मिलन जाएंगे-
 

एटीएम का पूरा नाम english

इंग्लिश में एटीएम का पूरा नाम Automated Teller Machine है।

क्या एटीएम से पैसे निकालने पर पैसे लगते है ?

एटीएम से पैसे निकालने पर कोई पैसे नही लगते है, लेकिन यदि आप दिन में 10 बार से ज्यादा एटीएम का उपयोग करते है, तो आपको कुछ चार्ज देना पड़ता है, सभी बैंको का अलग-अलग चार्ज होता है।

एटीएम का फुल फॉर्म क्या है ?

एटीएम का फुल फॉर्म ऑटोमेटेड टेलर मशीन होता है।

एटीएम का दूसरा नाम क्या है?

दोस्तो एटीएम का दूसरा अर्थात पूरा ऑटोमेटेड टेलर मशीन होता है, दोस्तो यह एक इलेक्ट्रिक मशीन होती है, इसके माध्यम से हम अपने बैंक एकाउंट के पैसे निकाल सकते है, यह मशीन हर छोटे से लेकर बड़े शहरों में रहती है, जिसे हम एटीएम नाम से जानते है।

ATM का मतलब क्या होता है?

दोस्तो एटीएम का मतलब स्वचालित टेलर मशीन होता है, यह एक इलेक्ट्रो-मैकेनिकल मशीन है, जिसे हम एटीएम के नाम से जानते है, इस मशीन के माध्यम से हम अपने बैंक एकाउंट के पैसे मात्र कुछ ही सेकंड में निकाल सकते है।

एटीएम के आविष्कारक कौन है?

एटीएम का आविष्कार तीन लोगों ने मिलकर किया है,
1) John Shepherd-Barron
2) Do Duc Cuong
3) Donald Wetzel

भारत में एटीएम कब आया?

दोस्तो भारत में पहला एटीएम 1987 में HSBC के द्वारा मुंबई में स्थापित किया गया था।

ATM ka Pura Naam क्या है?

दोस्तो एटीएम का पूरा नाम Automated Teller Machine है, जिसको हिंदी में स्वचालित टेलर मशीन होता है।

निष्कर्ष:

दोस्तो उमीद करते है, की आपको ATM full form in hindi (ATM Ka full form kya hai) के बारे में काफी कुछ सीखने को मिला होगा।

दोस्तो हमने इस लेख एटीएम का फुल फॉर्म क्या है, ATM ka Pura Naam क्या है ओर ATM kya hai के बारे में भी जानकारी दी है। अगर आपको यह जानकारी पसंद आई होतो इसे अपने दोस्तों तक जरूर शेयर करें।

ओर अगर आपका कोई सवाल होतो आप हमें कमेंट के द्वारा बता सकते है, हम पूरी कोशिश करेंगे, की आपके सभी सवालों के जवाब दे पाए, इसके अलावा ऐसी ही ओर भी महत्वपूर्ण जानकारी पाने के लिए Infos hindi को गूगल पर सर्च करें।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!