EWS Full Form In Hindi, ईडब्ल्यूएस का फुल फॉर्म क्या है, ईडब्ल्यूएस का मतलब क्या होता है, ईडब्ल्यूएस क्या होता है, ईडब्ल्यूएस आरक्षण क्या है, What Is EWS CERTIFICATE in Hindi, ईडब्ल्यूएस में कौन सी जाति आती है, Ews प्रमाण पत्र कौन बनवा सकता है

EWS Full Form In Hindi – EWS का फुल फॉर्म क्या है और ईडब्ल्यूएस कैसे बनाएं ?

EWS Full Form In Hindi, ईडब्ल्यूएस का फुल फॉर्म क्या है, ईडब्ल्यूएस का मतलब क्या होता है, ईडब्ल्यूएस क्या होता है, What Is EWS Certificate in Hindi

हेलो दोस्तो आप सभी का InfosHindi पर स्वागत है, आज हम आपके लिए एक और खास जानकारी लेकर आए है, जहां पर हम आपको ईडब्ल्यूएस का फुल फॉर्म क्या है (EWS Full Form In Hindi) के बारे बताएंगे।

साथ में जानेंगे की ईडब्ल्यूएस क्या होता है, ईडब्ल्यूएस आरक्षण क्या है, ईडब्ल्यूएस में कौन सी जाति आती है और ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट कैसे बनाएं से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी आज हम आपको देने वाले है।

दोस्तो भारत में सभी वर्ग के लोग रहते हैं, जिन्हे एसटी, एससी, ओबीसी और सामान्य वर्ग के नाम से जाना जाता है, और इन वर्गो की आवश्यकताओ के अनुसार सरकार इन्हें सुख सुविधाएं उपलब्ध कराती है। एसटी, एससी और ओबीसी वर्ग के लोगो को तो आरक्षण मिल जाता है, 

लेकिन सामान्य वर्ग के लोगो को आरक्षण नहीं मिलता है, इसी को देखते हुए सरकार ने कुछ वर्षों पहले EWS सर्टिफिकेट जारी किया, EWS सर्टिफिकेट सामान्य वर्ग के लोगों के लिए काफी उपयोगी साबित हो रहा है, EWS सर्टिफिकेट की मदद से सामान्य वर्ग के लोगों को 10% तक का आरक्षण मिल जाता है,

EWS Full Form In Hindi, ईडब्ल्यूएस का फुल फॉर्म क्या है, ईडब्ल्यूएस का मतलब क्या होता है, ईडब्ल्यूएस क्या होता है, ईडब्ल्यूएस आरक्षण क्या है, What Is EWS CERTIFICATE in Hindi, ईडब्ल्यूएस में कौन सी जाति आती है, Ews प्रमाण पत्र कौन बनवा सकता है

लेकिन बहुत से लोगों को अभी इस सर्टिफिकेट के बारे में जानकारी नहीं है ऐसे में इस लेख में हम आपको ईडब्ल्यूएस क्या होता है और ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट कैसे बनाएं से संबंधित जानकारी देने वाले है, आइए पहले जानते है की ईडब्ल्यूएस का फुल फॉर्म क्या है।

Table of Contents

ईडब्ल्यूएस का फुल फॉर्म क्या है ? (EWS Full Form In Hindi)

ईडब्ल्यूएस का फुल फॉर्म Economically Weaker Section होता है, जिसे हिंदी में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग कहते है। जो की आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोग है।

7 जनवरी, 2019 को केंद्रीय मंत्रिपरिषद ने सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों के लिए सामान्य श्रेणी में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (EWS) के लिए 10% आरक्षण को मंजूरी दी। कैबिनेट ने फैसला किया कि यह एससी, एसटी और ओबीसी समूहों के लिए पहले से मौजूद 50% आरक्षण के अतिरिक्त होगा।

एकनॉमिकल्ल्य वीकर सेक्श सामान्य श्रेणी में एक नए प्रकार का आरक्षण है। यह एक प्रकार की आरक्षण योजना है जो वर्ष 2019 में शुरू हुई थी। भारत में, आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (एकनॉमिकल्ल्य वीकर सेक्श) उन लोगों के लिए अर्थव्यवस्था-आधारित गैर-आरक्षित श्रेणी का एक उपश्रेणी है, 

जिनकी पारिवारिक आय प्रति वर्ष 8 लाख से कम है और जो अनुसूचित जाति अन्य पिछड़ा वर्ग या एमबीसी समूहों से संबंधित नहीं हैं, आइए 

ईडब्ल्यूएस क्या होता है? (What Is EWS Certificate in Hindi) 

एकनॉमिकल्ल्य वीकर सेक्शन, जिसे आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (EWS) के रूप में भी जाना जाता है, भारतीय समाज का एक ऐसा वर्ग है जो अनारक्षित श्रेणी के अंतर्गत आता है, फिर भी जिसकी पारिवारिक आय वार्षिक आधार पर 8 लाख रुपये से कम है। 

वे लोग जो एसटी/एससी/ओबीसी के जाति समूहों से संबंधित नहीं हैं और जो पहले से ही आरक्षण का लाभ प्राप्त करने के पात्र हैं, इस श्रेणी में शामिल हैं, भारत सरकार ने इस समूह के व्यक्तियों के लिए 10% आरक्षण की स्थापना की, जो एसटी/एससी/ओबीसी श्रेणियों के अंतर्गत नहीं आते हैं, 

बल्कि अनारक्षित श्रेणी के अंतर्गत आते हैं और आर्थिक रूप से वंचित क्षेत्र की आवश्यकताओं को पूरा करते हैं। सामान्य श्रेणी के आर्थिक रूप से कमजोर क्षेत्र, जिसे ईडब्ल्यूएस के रूप में भी जाना जाता है, को वर्ष 2019 में भारतीय संघ परिषद द्वारा सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में 10% आवंटन प्रदान किया गया था। 

यह सरकार द्वारा अधिकृत किया गया था, यह निर्धारित किया गया था कि यह आरक्षण एसटी, एससी और ओबीसी श्रेणियों के लिए आवश्यक 50% आवंटन के अतिरिक्त होगा। यह आश्वासन देता है कि आर्थिक रूप से कमजोर क्षेत्र, जिसे ईडब्ल्यूएस के रूप में भी जाना जाता है, के लिए आरक्षण का वर्तमान आरक्षण पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा।

ईडब्ल्यूएस आरक्षण क्या है? (What Is EWS Certificate in Hindi)

ईडब्ल्यूएस (Economically Weaker Section) प्रमाणपत्र एक दस्तावेज है जो किसी व्यक्ति की आय और संपत्ति की पुष्टि करता है और यह केवल कमजोर समूहों को दिया जाता है। यह एक प्रमाण पत्र है जो इस बात के प्रमाण के रूप में कार्य करता है,

कि एक व्यक्ति एक विशेष आय समूह से संबंधित है, और इसका उपयोग इस तरह किया जा सकता है। यह प्रमाण पत्र व्यक्तियों के लिए सरकार द्वारा उपलब्ध कराए गए विभिन्न प्रकार के संसाधनों का लाभ लेना संभव बनाता है, विशेष रूप से शिक्षा के क्षेत्र में।

ईडब्ल्यूएस (एकनॉमिकल्ल्य वीकर सेक्शन) सर्टिफिकेट लोगों को उनकी आय के आधार पर आरक्षण प्राप्त करने में मदद करता है। स्थानीय प्राधिकरण कई कारकों पर विचार करने के बाद प्रमाण पत्र देने या न देने का फैसला करता है, जिसमें परिवार द्वारा अर्जित धन और उसके स्वामित्व वाली संपत्ति शामिल है। 

यह प्रमाणपत्र रोजगार और शिक्षा सहित विभिन्न क्षेत्रों में बेहतर संभावनाओं तक पहुंच प्राप्त करने में समाज के कम भाग्यशाली सदस्यों की सहायता के लिए सरकार की ओर से एक प्रयास है। यह माध्यमिक और माध्यमिक शिक्षा संस्थानों दोनों में नामांकन के लिए आवश्यकताओं को पूरा करता है।

ईडब्ल्यूएस में कौन सी जाति आती है?

आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग, जिसे आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (EWS) के रूप में भी जाना जाता है, भारतीय समाज का एक ऐसा वर्ग है जो अनारक्षित श्रेणी में आता है, लेकिन जिसकी पारिवारिक आय प्रति वर्ष 8 लाख रुपये से कम है। 

वे लोग जो एसटी/एससी/ओबीसी के जाति समूहों से संबंधित नहीं हैं और जो पहले से ही आरक्षण का लाभ प्राप्त करने के पात्र हैं, इस श्रेणी में शामिल हैं, जो लोग भारत में अर्थव्यवस्था-आधारित अनारक्षित श्रेणी से संबंधित हैं, उन्हें आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (EWS) का हिस्सा माना जाता है। 

इन व्यक्तियों की पारिवारिक आय प्रति वर्ष 8 लाख से कम है और वे भारत में अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, या अन्य पिछड़ा वर्ग सहित किसी भी अन्य श्रेणी से संबंधित नहीं हैं, और न ही वे तमिलनाडु में एमबीसी से संबंधित हैं।

यह भी पढ़े:

EWS प्रमाण पत्र कौन बनवा सकता है?

में रखे जाने के लिए किसी व्यक्ति को एक निश्चित आवश्यकताओ को पूरा करने की आवश्यकता होती है। EWS प्रमाणपत्र मुख्य रूप से वार्षिक आय, आवासीय भूखंड के आकार और संपत्ति के मूल्य से निर्धारित होता है। ये तीन बुनियादी विचार हैं। यदि कोई व्यक्ति नीचे सूचीबद्ध सभी आवश्यकताओं को पूरा करता है, तो वह EWS प्रमाणपत्र प्राप्त करने के योग्य है:

● आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग श्रेणी के प्रमाणपत्र के लिए आपके पास आवासीय संपत्ति कुल क्षेत्रफल में 200 वर्ग मीटर से अधिक नहीं होनी चाहिए।

● आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग श्रेणी के प्रमाणपत्र के लिए आपके पूरे परिवार की वार्षिक आय INR 1,00,000 से अधिक नहीं होनी चाहिए।

● आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग श्रेणी के प्रमाणपत्र के लिए उम्मीदवार एससी, एसटी और ओबीसी जैसी किसी अन्य आरक्षण श्रेणी से संबंधित नहीं होना चाहिए।

● आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग श्रेणी के प्रमाणपत्र के लिए निवास का समतल क्षेत्र 1000 वर्ग मीटर से अधिक नहीं होना चाहिए।

● आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग श्रेणी के प्रमाणपत्र के लिए उमीदवार के पास कृषि भूमि का क्षेत्रफल 5 एकड़ से कम होना चाहिए।

ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट बनाने के लिए आवश्यक दस्तावेज

EWS आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग श्रेणी प्रमाणपत्र प्राप्त करने के लिए, किसी भी अन्य सरकारी ऑपरेशन की तरह, आपको काफी मात्रा में कागजी कार्रवाई करनी होगी। प्रमाण पत्र के लिए आवेदन प्रक्रिया के दौरान, आपको निम्नलिखित दस्तावेज की आवश्यकता होगी, जिनका उल्लेख हमने नीचे किया है:

● ID प्रूफ

● एक पासपोर्ट साइज फोटो

● आय प्रमाण पत्र (Income Certificate)

● रेजिडेंशियल प्रूफ

● राशन कार्ड

● संपत्ति या जमीन के दस्तावेज से जुड़े दस्तावेज

● स्व-घोषणा पत्र(Self-declaration form)

● आधार कार्ड

● कास्ट सर्टिफिकेट

● बैंक स्टेटमेंट

ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट कैसे बनाएं ? (How To Make EWS Certificate In Hindi)

ईडब्ल्यूएस सेंट्रल गवर्नमेंट की स्कीम है पर स्टेट गवर्नमेंट भी ईडब्ल्यूएस क्रेटेरिआ तय कर सकती है। निचे हम आपको ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट कैसे बनाएं बतायेगे। तो चलिए अब जानते है ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट कैसे बना सकते है:

1. सबसे पहले आपको EWS फॉर्म भरना होगा। EWS फॉर्म को आप डायरेक्ट ऑनलाइन भी डाउनलोड कर सकते है या इसे आप अपने स्टेट के डिप्टी कमिशनर या तहसीलदार के कार्यालय से भी प्राप्त कर सकते है।

2. अब EWS के फॉर्म में अपनी जानकारी को भरिये और अपनी पासपोर्ट साइज फोटो लगा के जरूरी दस्तावेज को फॉर्म के साथ जोड़ दीजिये।

3. अब फॉर्म और दस्तावेजों को लेके अपने नज़दीगी तहसीलदार या डिप्टी कमिशनर के पास जाकर फॉर्म सबमिट करवा दीजिये। वहा आपके फॉर्म और दस्तावेज की जांच की जाएगी।

4. अगर आपके दस्तावेज उचित रहे और जानकारी सही हुई तो 21 दिनों में आपको ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट जारी कर दिया जायेगा।

5. आवेदकों को मामूली आवेदन शुल्क का भुगतान भी करना पड़ेगा। यह आवेदन शुल्क अलग अलग राज्य में अलग अलग होती है।

नोट – EWS सर्टिफिकेट केवल एक वित्तीय वर्ष के लिए ही वैध होता है। आपको एक वित्तीय वर्ष पूरा होने पर आपको फिरसे दूसरे वित्तीय वर्ष के लिए EWS सर्टिफिकेट आवेदन करना पड़ेग।

यह भी पढ़े :

ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट के फायदे

सरकार कभी भी समाज के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग श्रेणी के सदस्यों की सहायता के लिए प्रयास करना बंद नहीं करती है, विशेषकर जो आर्थिक रूप से तंगी में हैं। उसी दिशा में एक ऐसा ही कदम है ईडब्ल्यूएस (Economically Weaker Section) सर्टिफिकेट। तो चलिए अब जानते है ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट के फायदे क्या है:

● एक प्रमाण पत्र आपको बेहतर स्कूली शिक्षा प्राप्त करने के साथ-साथ बेहतर काम खोजने में मदद कर सकता है। शिक्षण संस्थानों में नियुक्तियों के लिए 10% स्लॉट आरक्षित हैं।

● व्यक्ति के लिए राज्य या संघीय सरकार द्वारा शासित विश्वविद्यालयों में प्रवेश प्राप्त करना काफी आसान हो जाता है।

● आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग श्रेणी के वियक्ति शिक्षण संस्थानों में प्रवेश के लिए आवेदन आसानी से कर सकते है।

● आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग श्रेणी की सहायता से, छात्रों के पास छात्रवृत्ति प्रतियोगिताओं में सफल होने की संभावना बढ़ जाती है।

● इस आरक्षण में सरकारी नौकरी और सेवाएं भी शामिल हैं।

● इस सर्टिफिकेट की मदद से छात्र स्कॉलरशिप टेस्ट में भी बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं।

● यह छात्रों को NEET, JEE, CAT, और अन्य जैसे उच्च-दांव वाली परीक्षाओं में अच्छा प्रदर्शन करने में मदद कर सकता है।

ईडब्ल्यूएस का फुल फॉर्म से संबंधित FAQS

दोस्तो EWS Ka Full form से संबंधित सभी सवालों के जवाब आपको इस लेख के माध्यम से मिल जाएंगे –

एब्स फुल फॉर्म इन हिंदी

ईडब्ल्यूएस का फुल फॉर्म Economically Weaker Section होता है, जिसे हिंदी में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग कहते है।

ईडब्ल्यूएस में कौन सी जाति आती है?

ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट सिर्फ सामान्य वर्ग के लोग बनवा सकते है, ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट से सामान्य वर्ग के लोगो को 10% तक का आरक्षण मिल जाता है।

ईडब्ल्यूएस का मतलब क्या होता है?

ईडब्ल्यूएस का मतलब Economically Weaker Section होता है, जिसे हिंदी में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग कहते है, ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट से सामान्य वर्ग के लोगो को 10% तक का आरक्षण मिल जाता है।

Ews प्रमाण पत्र कौन बनवा सकता है?

Ews सर्टिफिकेट के लिए केवल वह लोग आवेदन दे सकते है जिनकी आमदनी सालाना ₹80000 से कम है। इस योजना का उपयोग केवल सामान्य वर्ग के लोग कर सकते है।

EWS कितने साल तक मान्य होता है?

ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट सिर्फ एक साल के लिए मान्य होता है, जिसके बाद दोबारा से इसका नवीनीकरण करवाना पड़ता है।

ईडब्ल्यूएस बनाने के लिए क्या क्या चाहिए?

ईडब्ल्यूएस बनाने के लिए निम्नलिखित डॉक्यूमेंट चाहिए होंगे –

पहचान पत्र की कॉपी (आधार कार्ड , वोटर आईडी आदि )
पैन कार्ड
आय प्रमाण पत्र
बीपीएल राशन कार्ड
बैंक स्टेटमेंट
स्व घोषित शपथ पत्र
मूल / स्थायी निवास प्रमाण पत्र
जमीन व सम्पती से जुड़े पत्र

ईडब्ल्यूएस का फुल फॉर्म क्या है?

ईडब्ल्यूएस का फुल फॉर्म Economically Weaker Section होता है, जिसे हिंदी में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग कहते है।

ews full form in caste?

जाती में EWS का फुल फॉर्म Economically Weaker Section होता है।

ईडब्ल्यूएस कितने रुपए में बनता है?

ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट बनाने में 500 से लेकर 2000 रुपए तक लगते है, यह राशि अलग अलग राज्य में अलग अलग हो सकती है।

ईडब्ल्यूएस कितने दिनों में बनता है?

ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट बनाने में 15 से लेकर 30 दिनों तक का समय लग सकता है।

निष्कर्ष : ईडब्ल्यूएस का फुल फॉर्म क्या है?

दोस्तों आज की इस पोस्ट में हमने आपको ईडब्ल्यूएस का फुल फॉर्म क्या है बताया है केवल EWS Full Form In Hindi ही नहीं बल्कि इससे जुड़े त्थ्य जैसे ईडब्ल्यूएस का मतलब क्या होता है, ईडब्ल्यूएस आरक्षण क्या है, 

ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट कैसे बनाएं ओर ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट के फायदे भी बताये है, उम्मीद है EWS Full Form In Hindi से जुडी यह पोस्ट आपको पसंद आयी होगी। अगर यह पोस्ट पसंद आयी है तो इसे अपने दोस्तो के साथ जरूर शेयर कीजिए।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!