Gps ka full form, Gps full form in hindi, Gps kya hai

GPS Ka Full Form in Hindi – जीपीएस का फुल फॉर्म क्या है ?

GPS ka full form, जीपीएस क्या होता है, GPS Full form in hindi, GPS kya hota hai, जीपीएस का फुल फॉर्म

दोस्तो इस ब्लॉग में आपका स्वागत है, आज हम आपके लिए एक ओर नई पोस्ट लेकर आएं है, जिसमे हम GPS ka Full Form क्या है (GPS Full Form In Hindi) के बारे में बात करने वाले है।

साथ मे जानेंगे कि जीपीएस कैसे काम करता है, जीपीएस का इतिहास क्या है और जीपीएस का फुल फॉर्म क्या है से जुड़ी हुई तमाम जानकारी आज के इस आर्टिकल में हम आपको देने वाले है।

दोस्तो पहले के जमाने की तुलना में तकनीक इतनी ज्यादा विकसित हो गई है, की हम दुनिया के किसी भी कोने में क्यों ना हो, हम अपनी लोकेशन का पता आसानी से लगा सकते है।
Gps ka full form, Gps full form in hindi, Gps kya hai
ओर यह सब मोबाइल और इंटरनेट के कारण ही पॉसिबल हो पाया है, आज से कुछ साल पहले तक हम किस जगह पर है, यह पता करना बहुत ही मुश्किल काम था, लेकिन आज के दौर में यह सब पता लगाना बहुत ही ज्यादा आसान हो गया है।
 
टेक्नोलॉजी दिन पे दिन विकसित हो रही है, GPS System भी टेक्नोलॉजी की ही देन है, जिसकी मदद से हम कुछ ही सेकंड में अपनी लोकेशन को जान सकते है, आने वाले समय मे इस तकनीक में ओर भी कई सारे सुधार होने वाले है।
 
GPS System की मदद से हम किसी की लोकेशन भी आसानी से ट्रेक कर सकते है, इसके अलावा भी GPS System में कई सारे फ़ीचर्स है, जिनके बारे में आगे हम बात करने वाले है, आइये सबसे पहले यह जानते है, की GPS ka Full Form क्या है। 
 

GPS Ka Full form क्या है ?(GPS full form in hindi)

जीपीएस का फुल फॉर्म Global Positioning System है, जिसको हिंदी में वैश्विक स्थान-निर्धारण प्रणाली के नाम से जाना जाता है, जीपीएस की सहायता से हमें समय, मौसम और लोकेशन की एक सटीक जानकारी मिलती है।
 
हम दुनिया के किसी भी भाग में क्यो ना चले जाएं, यदि हमारे पास स्मार्टफोन है ओर उसमे इंटरनेट चालू है, तो हम आसानी से जीपीएस की सहायता से अपनी समय और लोकेशन का पता लगा सकते है, जीपीएस की खास बात यह है,
 
की इसका इस्तेमाल करने पर आपको किसी भी प्रकार की कोई फीस नही देनी होती है, आप कभी इस सर्विस का फ्री इस्तेमाल कर सकते हैं, आइये जीपीएस क्या होता है, ओर जीपीएस कैसे काम करता है, के बारे में ओर अधिक विस्तार से जानकारी प्राप्त करते है।
 

जीपीएस क्या है ? (GPS Kya Hota Hai)

जीपीएस एक अंतरिक्ष आधारित उपग्रह नेविगेशन प्रणाली है, जोकि 24 Satellite के एक Network से बनी हुई है, इन 24 सैटेलाइट को पृथ्वी के एक ऑर्बिट में रखा गया है, जीपीएस सिस्टम तीन खंडों से मिलकर बना हुआ है।
 
अंतरिक्ष, उपयोगकर्ता ओर नियंत्रण से मिलकर बना है, जीपीएस (Global Positioning System) का विकास संयुक्त राष्ट्र अमेरिका के द्वारा अपने रक्षा विभाग के लिए किया गया था, लेकिन सन 1980 में,
 
जीपीएस सिस्टम को आम लोगो के लिए भी इस्तेमाल के लिए भी उपलब्ध करवा दिया, यह जीपीएस सिस्टम मौसम की किसी भी स्थिति में स्थान ओर समय की सटीक जानकारी प्रदान करता है, जीपीएस की खास बात यह है।
 
की यह खराब से खराब मौसम में भी कार्यरत रहता है, इसके अलावा इसका इस्तेमाल 24 घंटे में कभी भी किया जा सकता है, यह आम लोगों के लिए बिल्कुल फ्री है, आइये अब बात करते है, कि जीपीएस कैसे काम करता है।
 

जीपीएस कैसे काम करता है ?(GPS Kaise Kaam Karta Hai)

GPS System को 24 उपग्रह से मिलकर बनाया है, इन 24 उपग्रह की मदद से ही जीपीएस सिस्टम कार्य करता है, इन सभी उपग्रह को पृथ्वी से 12000 किलोमीटर की दूरी पर अंतरिक्ष मे उपस्थित किया गया है, यह सभी उपग्रह 12 घण्टे में एक बार पृथ्वी की परिक्रमा करते है।

इन सभी उपग्रह को पृथ्वी के चारो तरफ फैलाया गया है, ताकि यह सभी उपग्रह पूरी पृथ्वी को कवर कर सकें, GPS System तीन प्रमुख सेगमेंट प्रणाली पर कार्य करता है, Space Segment, Cantrol Segment ओर User Segment,

इन 3 प्रमुख सेगमेंट को सैटेलाइट के द्वारा जोड़ा गया है, जब भी हम स्मार्टफोन की मदद से कोई लोकेशन सर्च करते है, तो सबसे पहले सैटेलाइट के सिग्नल पृथ्वी पर आते है, जिसके बाद यह सिग्नल रिसीवर को मिलते हैं, अब रिसीवर इन सिग्नल की दूरी ओर समय को मापता है।

ओर रिसीवर ही इस दूरी को कैलक्यूलेट करता है, अब जो दूरी निकलकर आती है, उसे इन तीनो सेगमेंट की मदद से जीपीएस सिस्टम तक पहुँचाया जाता है, इस तरह से आप जीपीएस सिस्टम से अपनी लोकेशन जान सकते है।

कमाल की बात यह है, की यह सभी कार्य सिर्फ 1 से 2 सेकंड में हो जाता है, ओर आपकी सटीक लोकेशन आपको मिल जाती है, आइये अब बात जीपीएस सिस्टम के इतिहास बारे में जानकारी प्राप्त करते है। 

यह भी पढ़े : 

जीपीएस का इतिहास – History Of GPS in Hindi 

GPS System की शुरुआत सबसे पहले US में हुई थी, GPS System का इस्तेमाल सबसे पहले US Defense Department के द्वारा किया गया था, GPS सिस्टम American Navigation System पर आधारित है, 

जिसे NAVSTAR कहा जाता है, इसे आप Global Navigation Satellite System (GNSS) या GPS भी बोल सकते है। सन 1957 में Soviet Union के द्वारा जीपीएस को इसे लॉन्च किया था, जोकि Sputnik I Satellite था, 

ओर इसे अमेरिका के द्वारा पनडुब्बी नेविगेशन के लिए इस्तेमाल किया था, शुरुआती दिनों में जीपीएस सिस्टम पूरी तरह से सफल नही हो पाया था, लेकिन फिर वैज्ञानिकों के द्वारा इसमें परिवर्तन किये गये।

जिसके बाद सन 2000 के करीब इसका इस्तेमाल आम जनता और कंपनियों के द्वारा किया गया, जिसके बाद जीपीएस सिस्टम ने नई-नई उपलब्धियां हासिल की, आइये अब जीपीएस के बेसिक स्ट्रेचर के बारे में बात करते है।

Basic Structure Of GPS Segments in Hindi 

GPS System तीन प्रमुख सेगमेंट पर कार्यरत है, जोकि निम्नलिखित है-

1- Space Segment 

जीपीएस सैटेलाइट पृथ्वी की सतह से करीब 20 हजार किलोमीटर की ऊंचाई पर स्थित है, जीपीएस सिस्टम में 24 उपग्रह सामिल है, जोकि अंतरिक्ष मे पृथ्वी की परिक्रमा करते हैं, 24 प्रमुख उपग्रह को 6 ऑर्बिट समूह में बांटा गया है, जिसमे एक ऑर्बिट में 4 जीपीएस सैटेलाइट पृथ्वी की परिक्रमा करती है।

2- Cantrol Segment 

इस सेगमेंट के अंदर सभी सैटेलाइट ऑर्बिट पर कड़ी नजर रखी जाती है, किसी भी ऑर्बिट सैटेलाइट में किसी तरह की समस्या तो नहीं है, इस सेगमेंट में सैटेलाइट पर Monitering, Cantroling ओर Maintaining की जाती है, ओर यह भी नजर रखी जाती है, की सभी सैटेलाइट टाइमिंग लेवल पर कार्य कर रही है, या नही।

3- User Segment 

यूजर सेगमेंट को जीपीएस रिसीवर भी कहते है, इनका प्रमुख कार्य सैटेलाइट के द्वारा भेजे गए सिग्नल को रिसीव करना होता है।

जीपीएस का महत्व – Importance of GPS 

जीपीएस एक Global Positioning System है, जोकि Global Navigation Satellite System पर आधारित है, जीपीएस सिस्टम आम नागरिकों ओर देश के डिफेंस सिस्टम के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

जीपीएस सिस्टम 24 सैटेलाइट ओर 3 सेगमेंट पर कार्य करता है, ओर मौसम की किसी भी परिस्थिति में हमे सटीक समय, लोकेशन ओर दूरी बताने में हमारी मदद करता है, कह सकते है, की जीपीएस सिस्टम हमारे लिए बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण है।

 

जीपीएस का उपयोग 

जीपीएस के उपयोग के बारे में तो आप जानते ही होंगे, जीपीएस सिस्टम का उपयोग 5 प्रमुख जानकारी के लिए किया जाता है, जोकि कुछ इस प्रकार है- 

Location: जीपीएस सिस्टम की मदद से आप किसी भी स्थान, स्थिति और लोकेशन का पता कर सकते है।

Navigation: GPS System की मदद से आप एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुँचना या ले जाना पता कर सकते है।

Tracking: GPS सिस्टम पुलिस और डिफेंस अधिकारी के लिए इस लिए भी उपयोगी है, क्योकि इसकी मदद से आप किसी भी इंसान या वस्तु की लोकेशन को ट्रैक कर सकते है।

Mapping: दुनिया के एक कोनसे से दूसरे कोने तक पहुंचने में जीपीएस सिस्टम आपकी मदद करता है, सिर्फ आपको किसी भी पर्टिकुलर प्लेस का नाम सर्च करना है, अब आपको जीपीएस ही रास्ता बताता जाएगा।

Timing: जीपीएस सिस्टम की मदद से समय का सटीक पता लगाना, जीपीएस सिस्टम इन प्रमुख जानकारियों को हासिल करने के लिए उपयोग में लाया जाता है।

जीपीएस हमारे ओर आपके लिए बहुत ही ज्यादा उपयोगी है, जीपीएस का उपयोग पर्सनल, ऑर्गनाइजेशन, पुलिस, गेम्स, आर्मी के द्वारा किया जाता है, दोस्तो आसा करते है, की आपको GPS ka Full Form से सम्बंधित यह जानकारी पसंद आई होगी।

यह भी पढ़े :- 

GPS Ka Full Form से संबंधित FAQ 

दोस्तो GPS Ka Full Form Kya hai से जुड़े हुए आपके मन मे ओर भी कई सारे सवाल होंगे, जिनके जवाब आपको FAQ के माध्यम से मिल जाएंगे-

जीपीएस का फुल फॉर्म क्या है ?

जीपीएस का फुल फॉर्म Global Positioning System है, जिसको हिंदी में वैश्विक स्थान-निर्धारण प्रणाली के नाम से जाना जाता है।

GPS Segments in hindi

जीपीएस में तीन सैगमेंट होते है, 1 Space Segment, 2 Control Segment, 3 User Segment.

जीपीएस का आविष्कार किसने किया ?

वैश्विक स्थान-निर्धारण प्रणाली
का अविष्कार इन तीन वैज्ञानिकों ओर इनकी टीम ने मिलकर किया-

Ivan A. Getting

रोजर एल॰ ईस्टन

ब्रैडफोर्ड पार्किंसन

जीपीएस का हिंदी अर्थ ?

जीपीएस का हिंदी अर्थ वैश्विक स्थान-निर्धारण प्रणाली है, जीपीएस की मदद से लोकेशन का सही पता लगाया जाता है।

जीपीएस का अविष्कार कब हुआ ?

जीपीएस का अविष्कार अमेरिका सन, 1957 में हुआ था जब अमेरिका का फ़ोर्स डिपार्टमेंट इसका उपयोग करता था, लेकिन 1973 में जीपीएस सिस्टम पूरी से कामयाब हो पाया।

जीपीएस का उपयोग कैसे करें ?

हर एक एंड्रॉयड फोन में जीपीएस की सुविधा होती है, ऐसे में जीपीएस का उपयोग करना बहुत ही ज्यादा आसान है, जीपीएस का उपयोग आप गूगल मैप्स ऐप की मदद से कर सकते है,

जीपीएस का उद्देश्य क्या है ?

जीपीएस का उद्देश्य किसी भी इंसान को हर हालत में उसकी लोकेशन ओर समय बताकर उसकी मदद करना है। जीपीएस का अधिकतर उपयोग पुलिस और आर्मी करती है।

GPS ka Pura Naam क्या है ?

जीपीएस का पूरा नाम Global Positioning System है, जिसको हिंदी में वैश्विक स्थान-निर्धारण प्रणाली के नाम से जाना जाता है।

निष्कर्ष : 

आसा करते है, की आपको GPS ka Full Form | GPS full form in hindi से संबंधित यह लेख पसंद आया होगा, इस लेख में हमारे द्वारा GPS Kya Hota hai ओर जीपीएस का फुल फॉर्म क्या है के बारे मे सम्पूर्ण जानकारी दी गई है, यदि यह जानकारी आपको पसंद आई है।
 
तो इसे अपने दोस्तों तक जरूर शेयर करें, ओर यदि आपके मन मे इस लेख से संबंधित कोई सवाल है, तो आप हमें कमेंट के माध्यम से बता सकते है, इसके अलावा ऐसी ही ओर भी महत्वपूर्ण जानकारी पाने के लिए आप हमारे इस ब्लॉग को गूगल पर भी सर्च कर सकते है।
 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!