ErrorException Message: WP_Translation_Controller::load_file(): Argument #2 ($textdomain) must be of type string, null given, called in /home/u181736367/domains/infoshindi.com/public_html/wp-includes/l10n.php on line 838
https://infoshindi.com/wp-content/plugins/dmca-badge/libraries/sidecar/classes/ITR Full Form in hindi - आईटीआर का फुल फॉर्म क्या है ? -
ITR Full Form in hindi, ITR Ka Full form, ITR Kya hai, ITR Meaning in Hindi 

ITR Full Form in hindi – आईटीआर का फुल फॉर्म क्या है ?

ITR Full Form in hindi, आईटीआर का फुल फॉर्म क्या है, ITR Ka Full form, आईटीआर क्या है, ITR Kya hai, आईटीआर कैसे भरे, ITR Meaning in Hindi, आईटीआर फाइल क्या है, आईटीआर कैसे बनता हैं

दोस्तो Infos Hindi में आप सभी का स्वागत है, आज हम आप सभी के लिए एक ओर महत्वपूर्ण जानकारी लेकर आये है, जिसमे हम ITR Full Form in hindi के बारे में बात करने वाले है। 

साथ मे जानेंगे कि ITR Ka Full form क्या है, ITR Kya hai, ITR Meaning in Hindi ओर आईटीआर का फुल फॉर्म क्या है, से जुड़ी हुई तमाम जानकारी आज के इस लेख में हम आपको देने वाले है।

दोस्तो आपने जॉब के लिए अप्लाई करते समय या फिर लोन के लिए अप्लाई करने से पहले ITR के बारे में जरूर सुना होगा, बहुत से लोगो को ITR के बारे में पता भी है, लेकिन बहुत से लोग ऐसे भी है, जिन्हें ITR के बारे में नही पता है, 

ITR Full Form in hindi, ITR Ka Full form, ITR Kya hai, ITR Meaning in Hindi 

यदि उन लोगो की तरह आपको भी ITR के बारे में नही पता है, तो कृपया इस लेख को पूरा पढ़े, क्योकि आज के इस लेख में हम आपको  ITR Full Form से जुड़ी हुई सभी जानकारी देने वाले है, आइये अब बिना किसी देरी के जानते हैं, की ITR Full Form in Hindi क्या है।

आईटीआर का फुल फॉर्म क्या है? (ITR Full Form In Hindi)

दोस्तो आईटीआर का फुल फॉर्म “Income Tax Return” होता है, जिसको हिंदी में इनकम टैक्स रिटर्न कहते है, इनकम टैक्स रिटर्न एक वित्तीय वर्ष के अंत में आयकर विभाग को इनकम टैक्स देने की प्रक्रिया है, 

हमारी आमदानी का एक भाग सरकार के द्वारा देश की अर्थव्यवस्था सुधारने एवं देश मे विकास करने के लिए लिया जाता है, इसे Income Tax यानिकि की आयकर टैक्स कहते है, आइये ITR Kya hai के बारे में ओर अधिक जानकारी प्राप्त करते है।

आईटीआर क्या है ? (ITR Kya Hai)

दोस्तो जैसा की ऊपर हमने आपको बाताया है कि ITR का पूरा नाम इनकम टैक्स रिटर्न होता है, भारत मे रहने वाले लोगो से भारत सरकार इनकम टैक्स के द्वारा कमाई का कुछ हिस्सा लेती है, ओर उस पैसे को सरकार भारत की अर्थव्यवस्था सुधारने,

एवं भारत को विकशित देश बनाने में खर्च करती है, इनकम टैक्स भरना हर एक के लिए जरूरी है, जिन्हें एक अच्छी तनख्वाह मिलती है, वैसे इनकम टैक्स भरना हर किसी के लिए जरूरी भी नही हैं, भारत मे जो मध्यम वर्गीय परिवार है।

जिनकी कमाई सालाना 5 लाख से कम है, ऐसे परिवारों को इनकम टैक्स भरने की कोई जरूरत नही है, सिर्फ उन्हीं लोगों को इनकम टैक्स भरना पड़ता है, जिनकी कुल कमाई सालाना 5 लाख या उससे अधिक होती है, इनकम टैक्स भरना एक अच्छी बात है।

क्योकि इस तरीके से हम भारत की अर्थव्यवस्था तो सुधार ही सकते है, साथ मे इनकम टैक्स का यह पैसा भारत के गरीब परिवारों तक पहुँच जाता है, दोस्तो ITR का अर्थ एक ऐसे कानूनी दस्तावेज़ से है, जिसमे व्यक्ति अपनी कमाई का पूरा विवरण सरकार को देता है,

कि उसने किन माध्यम से पैसे कमाए, कितना निवेश किया, कितनी बचत की और कितना कर चुकाया है, पहले की तुलना में अब इनकम टैक्स देना बहुत ही ज्यादा आसान हो गया है, अब कोई भी व्यक्ति ऑनलाइन इनकम टैक्स भर सकता है।

दोस्तो आयकर भरने के लिए भारत सरकार ने 7 फॉर्म निर्धारित किये है जिनकी मदद से कोई भी व्यक्ति इनकम टैक्स भर सकता है, ITR 1, ITR 2, ITR 3, ITR 4, ITR 5, ITR 6 ओर ITR 7 आदि। आइये अब जानते है, की आईटीआर फाइल क्या है।

आईटीआर फाइल क्या है ?

दोस्तो आईटीआर फाइल को हम Income Tax Return File कहते है, आईटीआर फाइल या इनकम टैक्स रिटर्न्स फ़ाइल के माध्यम से हम अपनी आय की जानकारी आयकर विभाग को देते है, इस फ़ाइल में हमारी कमाई, निवेश, 

ओर खर्च की जानकारी रहती है, इसी फ़ाइल के माध्यम से हम अपने बिजनेस की जानकारी आयकर विभाग तक साझा करते है, आईटीआर फाइल इस लिए भी भरी जाती है, ताकि आप पर उचित टैक्स लगे, 

ओर यदि आयकर विभाग की तरफ से टैक्स ज्यादा काट लिया है, तो वह हमे वापस मील सके, आइये अब जानते है, की आईटीआर कैसे बनता है।

आईटीआर कैसे बनता हैं ?

दोस्तो ITR आप Online (ई-फाइलिंग) के माध्यम से आय कर रिटर्न दाखिल कर सकते हैं। अगर आप चाहें तो ऑफलाइन भी ITR फाइल दाखिल कर सकते हैं, Income Tax Act के अनुसार भारत मे जिनकी आयु 60 साल से कम और आय 2.5 लाख से ज़्यादा है,

Senior Citizen जिनकी आयु 60-80 साल और आय 3 लाख से ज़्यादा है, उन्हें इनकम टैक्स फॉर्म भरना अनिवार्य है, आईटीआर एक स्टेटमेंट है, जो सरकार को बताता है कि भारत मे नागरिक अपने बिज़नेस या नौकरी से कितनी आय कमाते है।

और उस पर कितना टैक्स देते है, अब तक आपने जाना कि ITR Full Form क्या है, आइये अब जानते है, की आयकर रिटर्न भरने के लिए आवश्यक दस्तावेज क्या है।

यह भी पढ़े – 

आयकर रिटर्न्स भरने के लिए आवश्यक दस्तावेज

दोस्तो इनकम टैक्स भरने के लिए कुछ आवश्यक दस्तावेज की जरूरत होती है, जिनकी मदद से आप इनकम टैक्स रिटर्न भर सकते है, इनकम टैक्स रिटर्न भरने के लिए आवश्यक दस्तावेज निम्नलिखित है-

  • पैन कार्ड 
  • फॉर्म 16ए, 16बी, 16सी
  • फॉर्म 26AS  
  • बैंक डिटेल्स
  • सैलरी पे स्लिप 
  • इंटरेस्ट सर्टिफिकेट्स 
  • कर बचत निवेश का प्रमाण
  • TDS सर्टिफिकेट 

आईटीआर कैसे भरे ?

दोस्तो ITR भरना बहुत ही ज्यादा आसान है, आप दो तरह से ITR भर सकते है, ऑनलाइन ओर ऑफ़लाइन, दोस्तो ऑनलाइन आईटीआर भरने के लिए आपको निम्नलिखित स्टेप फॉलो करने होंगे- 

  • दोस्तो ITR भरने के लिए सबसे पहले आपको ITR EXCEL DOWNLOAD कर लेना है। 
  • ITR EXCEL डाउनलोड करने के बाद अब आपको Income Tax की ऑफिसिक्ल वेबसाइट पर जाना है।
  • इस वेबसाइट पर जाए  https://www.incometax.gov.in/iec/foportal
  • Income Tax की वेबसाइट पर जाने के बाद अब आपको Register Button पर क्लिक करना है।
  • Register Button पर क्लिक करने के बाद अब आपको Taxpayer सेलेक्ट करना है।
  • Taxpayer Option सेलेक्ट करने के बाद अब आपको पैनकार्ड नंबर, अपना पूरा नाम ओर जन्मतिथि डालनी है।
  • जिसके बाद अगले पेज पर एक ओर ऑप्शन दिखाई देगा, जहाँ पर आपको अपना एड्रेस, मोबाइल नंबर और जीमेल आईडी डालनी है।
  • अगले पेज पर अब आपके सामने जीमेल ओटीपी ओर मोबाइल ओटीपी डालने का एक ऑप्शन आएगा, जिन्हें आपको दोनों ही जगह पर अलग-अलग डालना है।
  • मोबाइल नंबर वेरिफिकेशन के बाद अब आपके सामने पासवर्ड डालने का ऑप्शन आएगा, आप अपने हिसाब से अपने पासवर्ड डाल सकते है।
  • पासवर्ड डालने के बाद अब आपको इनकम टैक्स की वेबसाइट पर लॉगिन होना है, लॉगिन होने के बाद अब आपको SUBMIT ITR EXCEL FILE पर क्लिक करना है।
दोस्तो इस प्रकार से आप बड़ी ही आसानी से अपनी ITR FILE भर सकते है, ओर इनकम टैक्स ऑनलाइन भर सकते है, यह बहुत ही सरल एवं आसान तरीका है, ITR भरने के दौरान कोई समस्या आती है, तो हमे कमेंट करके जरूर बताएं, आइये अब जानते है, की आईटीआर कैसे निकाले।
 

आईटीआर कैसे निकाले ?

दोस्तो आईटीआर भरने से पहले एक बार आईटीआर जरूर निकालें क्योंकि यदि आप आरटीआर के दायरे में नहीं आते हैं तो आपको आइटीआर भरने की कोई जरूरत नहीं है लेकिन यदि आप आइटीआर के दायरे में आते हैं, तो आपको इनकम टैक्स रिटर्न भरना पड़ेगा, 
 
आइटीआर कैसे भरते हैं यह जानकारी तो आपको ऊपर मिल गई है अब हम आपको आइटीआर कैसे निकाले से संबंधित जानकारी देने वाले हैं दोस्तों आईटीआर निकालना बहुत ही ज्यादा आसान है, आप ऑनलाइन ITR Calculator की मदद से बड़ी आसानी से आरटीआर निकाल सकते हैं।
 
और हम आपको बता दें यदि आपकी नेट कमाई गवर्मेंट की नजर में 5 लाख से कम है, तो आपको भी आपको आईटीआर भरने की कोई जरूरत नही है, आइए अब जानते है की आईटीआर भरने के फायदे क्या है।
 

आईटीआर भरने के फायदे 

दोस्तो आईटीआर भरने के निम्नलिखित फायदे होते है –
  • अगर आप समय पर आईटीआर भरते है, तो आपको लोन लेने में आसानी होती है।
  • आईटीआर की मदद से आपका बिज़नेस भी बढ़ सकता है।
  • दोस्तो अगर आप समय पर आईटीआर भरते है तो आप आसानी से प्रॉपर्टी खरीद सकते है।
  • समय पर आईटीआर भरने से वीसा मिलने में भी आसानी होती है।
  • आईटीआर बतौर एड्रेस प्रूफ भी आपके काम आ सकता है।
  • समय पर आईटीआर भरने से आपके यहां पर कभी भी इनकम टैक्स रेड नही पड़ती है।
दोस्तो आईटीआर भरने के यह प्रमुख फायदे होते है, जिनके बारे में अब आपको जानकारी मिल गई होगी, आसा करते है, की आईटीआर का फुल फॉर्म क्या है (ITR Full Form in Hindi) से संबंधित यह लेख पसंद आया होगा।
 

ITR Full Form in Hindi से संबंधित FAQ

दोस्तो ITR Full Form in Hindi से जुड़े हुए आपके मन मे कई सारे ओर भी सवाल होंगे, जिनके जवाब आपको FAQ के माध्यम से मिल जाएंगे- 

आईटीआर का फुल फॉर्म क्या है?

आईटीआर का फुल फॉर्म Income Tax Return होता है, जिसको हिंदी में भाषा में इनकम टैक्स रिटर्न कहते है।

आईटीआर का मतलब क्या होता है?

आईटीआर का मतलब हिंदी में आयकर रिटर्न्स या आयकर वापसी होता है, भारत सरकार इनकम टैक्स के द्वारा कमाई का कुछ हिस्सा लेती है, और इस पैसे को देश के विकाश कार्यों में लगाती है।

आईटीआर 1 का मतलब क्या होता है?

आईटीआर 1 को हम जनरल आईटीआर कहते है यह फॉर्म Salary, Pension, Rent Income प्राप्त करने वाले लोग भरते है, यह फॉर्म सामान्य सैलरी वाले लोगो के लिए होता है, अर्थात जिन लोगो की आय 5 से 7 लाख से अधिक होती है, वह लोग इस फॉर्म को भरते है।

आईटीआर 4 का मतलब क्या होता है?

दोस्तो आईटीआर फॉर्म 4 उन लोगो के लिए होता है, जिनकी सालाना इनकम 50 लाख से अधिक होती है, अर्थात ITR 4 का फॉर्म वह लोग भरते है, जिनकी Salary, Pension, Rent ओर Income, 50 लाख या उससे ज्यादा होती है।

आईटीआर कौन कौन भर सकता है ?

जिनकी आयु 18 साल से ज्यादा है, वह सभी व्यक्ति आयकर रिटर्न भर सकते है, लेकिन जिनकी सालाना कमाई 50 लाख से ज्यादा है, उन्हें CA के द्वारा आयकर रेतुर्न भरवाना पड़ता है।

आईटीआर भरने से क्या फायदा होता है?

दोस्तो अगर आप नियमित तौर पर आईटीआर भरते है, तो आपको बैंक से आसानी से लोन मिल जाता है, इसके अलावा आप आसानी से अपने बिजनेस को आगे बढ़ा सकते है।

क्या हम बिना CA के आईटीआर फाइल कर सकते हैं?

जी हां दोस्तो अगर आपके पास सभी डॉक्यूमेंट्स हैं तो आप खुद भी इसे फाइल कर सकते हैं, इसके लिए किसी ऑफिसर या CA की आवश्यकता नहीं पड़ती है।

अंतिम शब्द :- 

दोस्तों आसा करते है, की आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी पसंद आई होगी, इस लेख में हमारे द्वारा ITR Full Form in Hindi ( ITR kya hai ) से संबंधित जानकारी साझा की है, इसके अलावा हमने ITR Ka Full form क्या है, के बारे में भी बताया गया है।
 
यदि यह सभी जानकारी आपको पसंद आई होतो कृपया इस लेख को जयदा से ज्यादा शेयर करें, ओर यदि आपके मन में कोई सवाल या सुझाव हो तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं, इसके अलावा और भी रोचक जानकारी के लिए infoshindi जरूर विजिट करें।
 
 
 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!