ErrorException Message: WP_Translation_Controller::load_file(): Argument #2 ($textdomain) must be of type string, null given, called in /home/u181736367/domains/infoshindi.com/public_html/wp-includes/l10n.php on line 838
https://infoshindi.com/wp-content/plugins/dmca-badge/libraries/sidecar/classes/NSS Full Form In Hindi - एनएसएस क्या है, फुल फॉर्म, उद्देश्य, इतिहास की जानकारी -
एनएसएस का फुल फॉर्म क्या है, NSS Full Form In Hindi, एनएसएस क्या होता है, एनएसएस का पूरा नाम क्या है, एनएसएस का मोटो क्या है, NSS Full Form in college, NSS Ka Full form In Hindi

NSS Full Form In Hindi – एनएसएस क्या है, फुल फॉर्म, उद्देश्य, इतिहास की जानकारी

एनएसएस का फुल फॉर्म क्या है, NSS Full Form In Hindi, एनएसएस क्या होता है, NSS Ka Full form In Hindi
 

दोस्तो आप सभी का स्वागत है, आज की हमारी इस नई पोस्ट में जहां पर हम आपको एनएसएस का फुल फॉर्म क्या है (NSS Full Form In Hindi) से संबंधित जानकारी देने वाले हैं।

साथ में जानेंगे कि एनएसएस क्या होता है, एनएसएस का पूरा नाम क्या है, एनएसएस का मोटो क्या है और NSS Full Form in college से संबंधित तमाम जानकारी आज के इस लेख में हम आपको देने वाले हैं।
 
दोस्तों आपमें से कई सारे लोगों ने स्कूल या कॉलेज में एनएसएस के द्वारा चलाए जा रहे हैं कार्यक्रमों में क्या लिया होगा, NSS एक समाज सेवी संगठन है जोकि हर साल स्कूलों और कॉलेजों में अपने कार्यक्रम के माध्यम से युवाओं को समाज सेवा और अन्य सेवा के लिए प्रेरित करता है, 
 
NSS संगठन स्कूलों में अनेक प्रकार जागरूक अभियानों के माध्यम से युवाओं को समाज में उनके कर्तव्यों के प्रति शिक्षित व जागरूक करता रहा है, लेकिन आप में से कई सारे लोगों को एनएसएस से संबंधित जानकारी नहीं होगी, यदि आपको नहीं पता है, 
एनएसएस का फुल फॉर्म क्या है, NSS Full Form In Hindi, एनएसएस क्या होता है, एनएसएस का पूरा नाम क्या है, एनएसएस का मोटो क्या है, NSS Full Form in college, NSS Ka Full form In Hindi
कि एनएसएस क्या होता है, तो कृपया इस लेख को अंत तक जरूर पढ़े है, क्योंकि आज के इस लेख में हम आपको एनएसएस क्या होता है से संबंधित तमाम जानकारी देने वाले हैं, आइए अब बिना किसी देरी के जानते हैं कि एनएसएस का फुल फॉर्म क्या है।
 

Table of Contents

एनएसएस का फुल फॉर्म क्या है? (NSS Full Form In Hindi)

दोस्तो एनएसएस का फुल फॉर्म “National Service Scheme” होता है, एनएसएस का हिंदी में फुल फॉर्म “राष्‍ट्रीय सेवा योजना” होता है, हम आपको बता दें कि एनएसएस (राष्ट्रीय सेवा योजना) भारत सरकार, युवा मामलों और खेल मंत्रालय की एक केंद्रीय क्षेत्र की योजना है।
 
जिसका उद्देश्य देश के युवाओं को सामाजिक सेवा, खेल क्षेत्र, समाज हितों और अन्य प्रकार की सेवाओं के लिए जागरूक करना और उन्हें प्रोत्साहित करना है, एनएसएस शिविर के माध्यम से हर साल युवाओं को सामाजिक सेवा के लिए प्रेरित किया जाता है, आइए एनएसएस क्या होता है, से संबंधित और अधिक जानकारी प्राप्त करते हैं।
 

एनएसएस क्या होता है ? (What Is NSS In Hindi) 

दोस्तो जैसा कि आपको बताया गया है कि एनएसएस का पूरा नाम राष्ट्रीय सेवा योजना है, एनएसएस एक युवा मामलों और खेल मंत्रालय की एक केंद्रीय क्षेत्र की योजना है, NSS की स्थापना 24 सितंबर 1969 को भारत सरकार में तत्कालीन केंद्रीय शिक्षा मंत्री रहे वी.के.आर.वी. राव जी के द्वारा की गई थी, 
 
जिसका दायित्व देश के युवाओं को समाज सेवा, खेल और देश सेवा के लिए प्रोत्साहित करना है, और उनके अंदर सकारात्मक ऊर्जा का संचार करना है, एनएसएस हर साल देश के विभिन्न क्षेत्रों के स्कूलों में अपना कैंप लगाता हैऔर एनएसएस कैंप के माध्यम से छात्रों को शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत किया जाता है, 
 
समाज सेवा के लिए युवाओं को प्रेरित किया जाता है, एनएसएस शिविर आयोजन के दौरान जो भी युवा NSS ज्वाइन करते है, उन्हे पर्यावरण सुरक्षा, स्वास्थ एवं स्वछता, आपातकालीन स्थिति में प्राकृतिक आपदा के समय पीड़ीत लोगों की सहायता करने के लिए तैयार किया जाता है, 
 
एनएसएस ज्वाइन करने वाले छात्रों को एनएसएस स्वयं सेवक कहा जाता है, वर्तमान समय में 40 लाख से भी अधिक एनएसएस स्वयंसेवक देश में कार्य कर रहे हैं, और देश में स्वयंसेवकों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है, आइए दोस्तो अब एनएसएस का इतिहास के बारे में बात करते हैं।
 

एनएसएस का इतिहास (History Of NSS In Hindi)

एनएसएस के इतिहास की बात करें तो एन एन एस की स्थापना सन 24 सितंबर 1969 को भारत सरकार के तत्कालीन केंद्रीय शिक्षा मंत्री वी.के.आर राव जी के द्वारा की गई थी, NSS की स्थापना देश के चुनिंदा 37 विश्वविद्यालयों में की थी, 
 
उस समय योजना आयोग ने चौथी पंचवर्षीय योजना के दौरान राष्ट्रीय सेवा योजना को लागू करने के लिए पांच करो रुपए की मंजूरी दी थी, वैसे केंद्रीय शिक्षा बोर्ड एनएसएस की स्थापना पहले ही करना चाहता था, इसके लिए सन 1950 में एनएसएस प्रस्ताव पारित भी किया,
 
लेकिन एनएसएस की स्थापना 1969 में हो पाई, दिल्ली विश्व विद्यालय के के. के. गुप्ता को प्रथम एनएसएस स्वयं सेवक होने की मान्यता प्राप्त है, आइए दोस्तो अब जानते है, की एनएसएस का मोटो क्या है।
 

एनएसएस का मोटो क्या है ? 

एनएसएस का उद्देश्य बहुत साफ और सरल है, एनएसएस का सिद्धांत “Not Me But You” अर्थात मैं नहीं बल्कि आप। इसका अर्थ है, की समाज को खुद से आगे रखना है, देश हित्तो को सबसे आगे रखना, समाज सेवा को सबसे आगे रखना है। 
 
एनएसएस छात्रों में समाज सेवा और समुदाय के प्रति समर्पण की भावना पैदा करता है, NSS संगठन चाहता है कि देश के युवा एक दूसरे के प्रति समर्पित हो, और एनएसएस के स्वयं सेवक यह सुनिश्चित करते हैं कि देश के हर जरूरतमंद व्यक्ति को मदद मिले।
 
और आपातकालीन स्थिति में प्राकृतिक आपदा के समय पीड़ीत लोगों की सहायता की जाए, एनएसएस यह भी चाहता है, की देश के छात्रों में सामाजिक कार्यकर्ता और प्रशासनिक अधिकारी के रूप में गुण उत्पन्न हो, और मानव समाज के प्रति समर्पित हो, आइए अब जानते है, की एनएसएस की विशेषताएं।
 

एनएसएस की विशेषताएं ?

दोस्तो एनएसएस एक बहुत ही सिद्धांत वादी संगठन है जोकि समाज सेवा के लिए लोगों को प्रेरित करता है, एनएसएस संगठन की कई सारी विशेषताएं हैं जो कि निम्नलिखित हैं –
  • पर्यावरण संवर्धन और संरक्षण संबंधित कार्यक्रमों का आयोजन करना।
  • ग्रामीण युवाओं को कार्य साक्षरता की अनौपचारिक शिक्षा प्रदान करना।
  • हर साल देश के विभिन्न स्कूलों में कार्यक्रम का आयोजन करवाना।
  • मौलिक अधिकार और राज्य के नीति निर्देशक सिद्धांत का अध्ययन करवाना।
  • राष्ट्रीय सेवा योजना के रूप में सामाजिक सेवा के लिए छात्रों को प्रोत्साहित करना। 
  • स्वास्थ्य परिवार कल्याण और पोषण संबंधित जागरूकता अभियान का आयोजन।
  • राष्ट्रीय और सामाजिक समस्याओं से छात्रों को परिचित कराना।

एनएसएस के द्वारा किए जाने वाले कार्यकम 

दोस्तो हर साल NSS संगठन दो बार नियमित और वार्षिक विशेष शिविर कार्यक्रमों का आयोजन करवाता है, दोनों कार्यक्रमों की अवधि 120 घंटे की होती है, एनएसएस संगठन के माध्यम से जो स्वयंसेवक जिन्होंने कम से कम 2 वर्ष तक एनएसएस की सेवा की है, 
 
उन्हें विश्वविद्यालय के कुलपति के द्वारा हस्ताक्षरित प्रमाण पत्र दिए जाते हैं, इसी प्रकार एनएसएस में कार्यरत स्वयंसेवको को विशेष पुरस्कार एवं प्रमाणपत्र देती है, इसके अलावा एनएसएस देश में कुछ कार्यक्रम आयोजित करवाती है, जोकि निम्नलिखित है –
  • सफाई एवं स्वच्छता जागरूकता शिविर।
  • पौधारोपण एवं वनीकरण शिविर।
  • जागरूकता अभियान & कार्यक्रम।
  • डॉक्टरों की सहायता से स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन।
  • साहसिक कार्यक्रम आयोजन।
  • गणतंत्र दिवस परेड शिविर।
  • राष्ट्रीय युवा महोत्सव कार्यक्रम।
  • सामाजिक समस्या, शिक्षा और स्वच्छता कार्यक्रम।
  • सामुदायिक सर्वेक्षण कार्यक्रम।

एनएसएस अवार्ड & पुरुस्कार

एनएसएस मैं कार्यरत स्वयंसेवकों, अधिकारियों और इकाइयों को प्रतिवर्ष कुछ पुरस्कार दिए जाते हैं जोकि निम्नलिखित हैं –
  • एनएसएस राष्ट्रीय पुरस्कार।
  • राज्य स्तरीय पुरस्कार।
  • जिला स्तरीय पुरस्कार।
  • यूनिवर्सिटी स्तरीय पुरस्कार।
  • कॉलेज स्तरीय पुरस्कार।

राष्ट्रीय सेवा योजना का प्रतीक चिन्ह

दोस्तों राष्ट्रीय सेवा योजना के प्रतीक चिन्ह की बात करें तो यह भारत के ओडिशा राज्य के पूरी शहर में स्थित प्रसिद्ध कोणार्क सूर्य मंदिर (द ब्लैक पगोड़ा) के विशाल रथ के पहिए से लिया गया है जिसमें 8 रेखाएं हैं, 
 
जोकि एक दिन के आठ पहर को प्रदर्शित करती है, तथा पहिया हमारे जीवन के स्थान और समय की स्थिति को चित्रित करता है, राष्ट्रीय सेवा योजना का प्रतीक चिन्ह कुछ इस प्रकार से दिखाई देता है।
एनएसएस का फुल फॉर्म क्या है, NSS Full Form In Hindi, एनएसएस क्या होता है, एनएसएस का पूरा नाम क्या है, एनएसएस का मोटो क्या है, NSS Full Form in college, NSS Ka Full form In Hindi
Credit – Google

एनएसएस कैसे ज्वाइन करें ?

दोस्तों आप में से बहुत से युवा एनएसएस राष्ट्रीय सेवा योजना के साथ जुड़ना चाहता है, क्योंकि राष्ट्रीय सेवा योजना का एकमात्र उद्देश्य देश के युवाओं को सामुदायिक सेवा का अनुभव प्रदान करना है, वैसे एनएसएस राष्ट्रीय सेवा योजना ज्वाइन करने के लिए,
 
युवाओं को यूनिवर्सिटी और स्कूलों में एनएसएस के भर्ती फॉर्म भरने होते हैं, चाहे एनएसएस ज्वाइन करने वाले छात्र 10वीं या 12वीं पास ही क्यों ना हो, तकनीकी संस्थान ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रैजुएट कॉलेज और विश्वविद्यालय का भी कोई भी छात्र राष्ट्रीय सेवा योजना को ज्वाइन कर सकता है।
 
इसके लिए किसी भी प्रकार की खास योग्यता की आवश्यकता नहीं है, और कोई भी विद्यार्थी अपनी इक्छा के अनुसार एनएसएस को ज्वाइन कर सकता है, और एनएसएस का स्वयं सेवक बन सकता है, दोस्तो आसा करते है, की एनएसएस का फुल फॉर्म क्या है (NSS Full Form In Hindi) से संबंधित यह जानकारी आपको पसंद आई होगी।
 

एनएसएस का फुल फॉर्म क्या है से संबंधित FAQS

दोस्तो एनएसएस का फुल फॉर्म क्या है से संबंधित आपके मन में और भी कई सारे सवाल होंगे जिनके जवाब आपको आर्टिकल के माध्यम से मिल जाएंगे –
 

एनएसएस का फुल फॉर्म क्या है?

NSS का फुल फॉर्म “National Service Scheme” होता है, एनएसएस का हिंदी में फुल फॉर्म “राष्‍ट्रीय सेवा योजना” होता है।

Nss क्या है?

एनएसएस का पूरा नाम राष्ट्रीय सेवा योजना है, एनएसएस एक युवा मामलों और खेल मंत्रालय की एक केंद्रीय क्षेत्र की योजना है, जिसका उद्देश्य देश के युवाओं को सामाजिक सेवा, खेल क्षेत्र, समाज हितों के लिए जागरूक करना है।

एनएसएस का पूरा नाम क्या है?

एनएसएस का पूरा नाम “राष्‍ट्रीय सेवा योजना” है।

एनएसएस का उद्देश्य क्या है?

एनएसएस का उद्देश्य देश के युवाओं को सामाजिक कार्यों के लिए प्रेरित करना और समाज कल्याण के लिए उन्हे प्रोत्साहित करना है, इसके अलावा आपातकालीन स्थिति में प्राकृतिक आपदा के समय पीड़ीत लोगों की सहायता करना है।

राष्ट्रीय सेवा योजना के प्रेरणा पुरुष कौन है?

मानव सेवा एंव युवा चेतना के प्रतीक स्वामी विवेकानन्द को राष्ट्रीय सेवा योजना का प्रेरणा पुरूष मान्य किया गया है।

NSS के संस्थापक कौन है?

एनएसएस के संस्थापक केशव बलिराम हेडगेवार जी है।

एनएसएस की स्थापना कब हुई?

एन एन एस की स्थापना सन 24 सितंबर 1969 को भारत सरकार के तत्कालीन केंद्रीय शिक्षा मंत्री वी.के.आर राव जी के द्वारा की गई थी।

एनएसएस दिवस कब मनाया जाता है?

हर साल 24 सितंबर को एनएसएस राष्ट्रीय सेवा योजना दिवस मनाया जाता है।

राष्ट्रीय सेवा योजना का सिद्धांत क्या है?

एनएसएस का सिद्धांत “Not Me But You” अर्थात मैं नहीं बल्कि आप। इसका अर्थ है, की समाज को खुद से आगे रखना है।

निष्कर्ष : एनएसएस फुल फॉर्म क्या है 

दोस्तो आज के इस लेख में हमारे द्वारा एनएसएस का फुल फॉर्म क्या है (NSS Full Form In Hindi) से संबंधित जानकारी दी गई है, यदि यह जानकारी आपको पसंद आई हो तो उस अपने दोस्तों तक जरूर साझा करें।
 
और यदि एनएसएस से संबंधित आपके मन में और भी कोई सवाल हो तो आप हमें कमेंट करके बता सकते हैं, इसके अलावा ऐसी ही और भी महत्वपूर्ण जानकारी पाने के लिए हमारे साथ जुड़े रहे।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!