Parts Of Computer In Hindi, कंप्यूटर के मुख्य भाग, Computer Parts Name In Hindi, कंप्यूटर के घटक, Computer ke Parts in hindi, कंप्यूटर के पार्ट्स के नाम, 10 Computer Parts Name In Hindi

Parts of Computer in hindi – कंप्यूटर के मुख्य भाग और कार्य

Parts Of Computer In Hindi, कंप्यूटर के मुख्य भाग, Computer Parts Name In Hindi, कंप्यूटर के घटक, Computer ke Parts in hindi, कंप्यूटर के पार्ट्स के नाम, 10 Computer Parts Name In Hindi

दोस्तो Infos Hindi में आपका स्वागत है, हर बार की तरह आज भी हम आपके लिए एक और महत्वपूर्ण जानकारी लेकर आए है, इस लेख में हम कंप्यूटर के मुख्य भाग (Parts Of Computer In Hindi) के बारे में बताने वाले है।
 
साथ में जानेंगे की कंप्यूटर के पार्ट्स कितने होते हैं, 10 कंप्यूटर के मुख्य भाग, कंप्यूटर के मुख्य भाग, उनके कार्य हिंदी में और कंप्यूटर के पार्ट्स के नाम और Computer ke Parts in hindi से जुड़ी हुई सभी प्रकार जानकारी आज के इस लेख में हम आपको देने वाले है।
 
दोस्तो अगर आप कंप्यूटर से संबंधित कोई अध्ययन या डिप्लोमा कर रहे है, और अध्यन के दौरान आपको कंप्यूटर के किसी भाग के बारे में जानने किसी प्रकार की समस्या आ रही, तो ऐसे में यह ब्लॉग पोस्ट आपके लिए बहुत ही ज्यादा उपयोगी साबित होने वाली है, क्योंकि अगर आप कंप्यूटर से जुड़ा हुआ कोई कोर्स या डिप्लोमा कर रहे है, 
 
और आप जानना चाहते है की कंप्यूटर के मुख्य भाग कौनसे है, और उनके कार्य क्या क्या है, तो इस लेख को अंत तक जरूर पढ़े, दोस्तो कंप्यूटर मुख्यता दो भागों से मिलकर बना हुआ है, जिन्हें हम हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के नाम से जानते है, हार्डवेयर कंप्यूटर का बाहरी भाग होता है, जिसे हम छू सकते है और देख सकते है, 
Parts Of Computer In Hindi, कंप्यूटर के मुख्य भाग, Computer Parts Name In Hindi, कंप्यूटर के घटक, Computer ke Parts in hindi, कंप्यूटर के पार्ट्स के नाम, 10 Computer Parts Name In Hindi
जैसे मॉनिटर, कीबोर्ड, माउस, स्कैनर, स्पीकर, वेब कैमरा और प्रिंटर आदि। कंप्यूटर के आंतरिक भाग को सॉफ्टवेयर कहा जाता है, जिसे हम देख या छू नहीं सकते है, जैसे सीपीयू मदरबोर्ड आदि। दोस्तो इस लेख में हम इन्हीं कंप्यूटर के मुख्य भागों के बारे में वर्णन करने वाले है, आइए अब बिना किसी देरी के जानते है, की कंप्यूटर के मुख्य भाग कौनसे है।
 

Table of Contents

कंप्यूटर के मुख्य भाग – Parts Of Computer In Hindi

दोस्तो कंप्यूटर के मुख्य भाग की बात करें तो कंप्यूटर में बहुत से डिवाइस महत्वपूर्ण होते है, चाहे वो इनपुट डिवाइस हो या फिर आउटपुट डिवाइस हो। कंप्यूटर के कुछ बेसिक डिवाइस जैसे – कीबोर्ड, मॉनिटर, सीपीयू, माउस, प्रिंटर और स्पीकर के बारे में तो हम सभी जानते है, 
 
और इन सभी डिवाइस के कार्य भी आपको पता होंगे, लेकिन सभी के अलावा भी कंप्यूटर में बहुत से महत्वपूर्ण डिवाइस होते है, जिनके बारे में शायद आपको उतनी जानकारी नहीं होगी, आज हम आपको कंप्यूटर के मुख्य भाग के नाम और उनके कार्य के बारे में जानकारी देने वाले है, जोकि इस प्रकार है –
 

1- मॉनिटर/डिस्प्ले (Monitor)

दोस्तो मॉनिटर कंप्यूटर का बहुत महत्वपूर्ण भाग होता है, मॉनिटर को आप कंप्यूटर का डिस्प्ले भी बोल सकते है, हम कंप्यूटर को जो भी इनपुट देते है उसका आउटपुट हमें कंप्यूटर के मॉनिटर अर्थात डिस्प्ले पर ही दिखाई देता है, मॉनिटर एक आउटपुट डिवाइस होता है।
 
मॉनिटर दृश्य दिखाने के लिए वीडियो कार्ड का प्रयोग करता है, दोस्तो आज से कुछ साल पहले तक मॉनिटर Cathode Ray tube के साथ आते थे, लेकिन वर्तमान समय में सभी कंप्यूटर और लैपटॉप पर मॉनिटर और डिस्प्ले लिक्विड क्रिस्टल (एलसीडी -LCD ) डिस्पले और लाइट एमिटिंग डायोड (LED ) की डिस्प्ले के साथ आते हैं।
 
जोकि बहुत ही ज्यादा अच्छी क्वालिटी के होते है, मॉनिटर कंप्यूटर के मुख्य भागों में से एक है, कंप्यूटर पर हम जितने भी कार्य या प्रोग्राम को मैनेज करते है, उन सभी प्रोग्राम का दृश्य हमें कंप्यूटर के मॉनिटर पर दिखाई देता है, और लैपटॉप की डिस्प्ले पर दिखाई देता है।
 

मॉनिटर के कार्य :

  • मॉनिटर का कार्य दृश्य जैसे वीडियो और चित्र दिखाना होता है।
  • मॉनिटर का कार्य आउटपुट डेटा को दिखाना होता है।
  • मॉनिटर टीवी की डिस्प्ले की तरह होता है।
  • मॉनिटर कंप्यूटर का मुख्य भाग होता है।

2-  कीबोर्ड (Keyboard)

दोस्तो कीबोर्ड भी कंप्यूटर के महत्वपूर्ण भागों में से एक है, कीबोर्ड एक इनपुट डिवाइस है, जिसका इस्तेमाल कंप्यूटर में इनपुट डेटा भेजने अथवा कंप्यूटर को निर्देश देने के लिया किया जाता है, कीबोर्ड को उपयोगकर्ता और कंप्यूटर के बीच तालमेल बिठाने का पहला जरिया माना जाता है।
 
कीबोर्ड की सहायता से आप कंप्यूटर में टाइपिंग कर सकते है, MS EXCEL का इस्तेमाल कर सकते है, और संपूर्ण कंप्यूटर पर कंट्रोल पा सकते है। बिना कीबोर्ड के कंप्यूटर का इस्तेमाल करना असंभव है, इसलिए कीबोर्ड को भी कंप्यूटर का अहम भाग माना जाता है।
 

कीबोर्ड के कार्य: 

  • कंप्यूटर में टाइपिंग करने के लिए।
  • कंप्यूटर को ऑन/ऑफ करने के लिए।
  • कंप्यूटर में प्रोग्रामिंग करने के लिए।
  • कीबोर्ड भी कंप्यूटर का मुख्य भाग माना जाता है।

3- माउस (Mouse)

माउस जो की एक Pointing इनपुट डिवाइस है, माउस भी कंप्यूटर के महत्वपूर्ण भाग में से एक है, माउस का इस्तेमाल कंप्यूटर में इनपुट प्रदान करने के लिए किया जाता है, Mouse का आविष्कार डग्लस सी एंजेलबार्ट (Douglas Engelbart )के द्वारा किया गया था। माउस में तीन बटन होती है, 
 
एक Left Keys, एक Right Keys और मिडिल में Scroll Wheel Keys होती है, जिसकी मदद से आप अप और डाउन कर सकते है, किसी भी एप्लीकेशन को ओपन करने के लिए माउस का उपयोग होता है, इसके अलावा माउस की मदद से आप स्क्रीन पर Cursor नियंत्रित कर सकते है।
 

माउस के कार्य: 

  • किसी भी एप्लीकेशन को ओपन करने के लिए।
  • स्क्रीन पर Cursor नियंत्रित करने के लिए।
  • प्रोग्राम या फाइल को ओपन अथवा क्लोज करने के लिए।
  • कंप्यूटर में फाइल्स को अप और डाउन करने के लिए।

4- मदर बोर्ड (Mother Board)

दोस्तो मदर बोर्ड कंप्यूटर का सबसे उपयोगी और महत्वपूर्ण भाग होता है, मदर बोर्ड में कंप्यूटर प्राण बस्ते है, अगर हम कंप्यूटर के पार्ट्स (Types Parts Of Computer In Hindi) की बात करे और उसमे मदर बोर्ड की बात की जाए तो यह कंप्यूटर का मुख्य सर्किट बोर्ड होता है।
 
दोस्तो मदर बोर्ड को कंप्यूटर कैबिनेट के अंदर फिक्स किया जाता है, सभी डिवाइस से कम्युनिकेशन और डाटा ट्रांसमिशन के लिए बहुत सी लाइनो का जाल मदर बोर्ड में बिछा होता हैजिसे टेक्निकल भाष में ट्रैक्स कहते है, मदर बोर्ड प्लास्टिक और फाइबर की इलेट्रॉनिक प्लेट होती है।
 
जिसपर सभी प्रकार के इंटरनल, एक्सटर्नल , आउटपुट और इनपुट डिवाइस जैसे की प्रोसेसर, कीबॉर्ड, माउस, RAM, एसएमपीएस, स्पीकर आदि डिवाइस जुड़े रहते हैं, दोस्तो मदर बोर्ड पर कंप्यूटर के सभी पार्ट्स डायरेक्टली और इंडिरेक्टली रूप से जुड़े हुए होते है।
 

मदर बोर्ड के कार्य:

  • कंप्यूटर का सबसे अहम भाग होता है।
  • कंप्यूटर के सभी पार्ट्स मदर बोर्ड पर जुड़े हुए होते है।
  • मदरबोर्ड कंप्यूटर का मुख्य सर्किट बोर्ड होता है।
  • कंप्यूटर को सुचारू रूप से चलाने में मदर बोर्ड की अहम भूमिका होती है।
  • मदरबोर्ड सभी पार्ट्स को इलेक्ट्रिसिटी ट्रांसफर करता है।

5- प्रोसेसर/सीपीयू (Processor)

दोस्तो प्रोसेसर को ही सीपीयू (CPU) कहा जाता है, यह कंप्यूटर के मदरबोर्ड से जुड़ा हुआ होता है, प्रोसेसर को सीपीयू के अलावा कंप्यूटर का ब्रेन भी कहते है। क्योकि कंप्यूटर पर आपके द्वारा दिए गए सभी निर्देशों को प्रोसेसर के द्वारा प्रोसेस किया जाता है और इसका रिजल्ट आउटपुट डिवाइस के रूप में प्राप्त होता है।
 
सीपीयू का साइज लगभग 2 इंच का होता है, और इसके अंदर एक सिलिकॉन की बनी हुई चीप होती है, जबकि इसे मदरबोर्ड के अंदर सीपीयू सॉकेट के अंदर फिट किया जाता है, सीपीयू की गति को Megahertz में नापा जाता है, सीपीयू की वजह से ही हमें हमारे सवालों का जवाब मिल पाता है, क्योंकि सीपीयू कंप्यूटर का दिमाग होता है।
 

सीपीयू के कार्य :

  • किसी इनपुट डेटा पर प्रोसेसिंग करके उसे आउटपुट डेटा में बदलना।
  • प्रोसेसर सीपीयू कंप्यूटर का ब्रेन होता है।
  • प्रोसेसर के कारण ही हम अपने सभी कार्य कंप्यूटर में आसानी से कर पाते है।
  • कंप्यूटर में सीपीयू कंप्यूटर का मुख्य भाग होता है।
  • जितना पावरफुल प्रोसेसर होता है, कंप्यूटर भी उतना ही अधिक फास्ट काम करता है। 

6- हार्ड डिस्क (Hard Disk)

दोस्तो जिस प्रकार से मोबाइल में डाटा स्टोर करने के लिए मेमोरी की जरूरत पड़ती है, उसी प्रकार कंप्यूटर में डेटा स्टोर करने और ऑपरेटिंग सिस्टम को इंस्टॉल करने के लिए सेकेंडरी स्टोरेज डिवाइस की आवश्यकता पड़ती है, जिसे ही हार्ड डिस्क कहा जाता है।
 
इस सेकेंडरी स्टोरेज डिवाइस (हार्ड डिस्क) में आपका डाटा हमेशा के लिए स्टोर रहता है, जब तक आप अपने डेटा को खुद डिलीट ना करें, आपका डाटा हमेशा सुरक्षित रहता है, दोस्तो Hard disk जितना अधिक फास्ट होगा आपका कंप्यूटर उतना ही तेजी से चलेगा। 
 
कंप्यूटर में अलग अलग तरह के हार्ड डिस्क होते है, जैसे SSD, IDE हार्ड डिस्क ,मेग्नेटिक डिस्क, SCSI इत्यादि, दोस्तो कंप्यूटर में कोई भी यूजर अपनी आवश्यकता के अनुसार हार्ड डिस्क कनेक्ट कर सकता है।
 

हार्ड डिस्क के कार्य: 

  • कंप्यूटर की स्पीड को फास्ट करना।
  • कंप्यूटर में आवश्यक डेटा को स्टोर करना।
  • कंप्यूटर में जरूरी फाइल्स और डॉक्यूमेंट को सेव करके रखना।
  • कंप्यूटर को अत्यधिक डाटा लोड से बचाना।

7- रैम (RAM)

दोस्तो रैम भी कंप्यूटर का मुख्य भाग होता है, कंप्यूटर के अंदर जितने भी एप्लीकेशन, सॉफ्टवेयर और फाइल्स होती है, सभी रैम के अंदर ही स्टोरेज की जाती है, रैम का पूरा नाम Random Access Memory (रेंडम एक्सेस मेमोरी) होता है, यह कंप्यूटर की प्राथमिक मेमोरी होती है।
 
यह शॉर्ट टर्म मेमोरी होती है जोकि टेंपररी इस्तेमाल की जाती है, जब आप कंप्यूटर पर कोई काम कर रहे होते है, तो डेटा इसी मेमोरी में सेव होता है, लेकिन जब आपका कंप्यूटर शट डाउन या रीस्टार्ट हो जाता है तो आपका डाटा आटोमेटिक डिलीट हो जाता है, इसलिए इस मेमोरी को अस्थाई मेमोरी कहा जाता है।
 

रैम के कार्य:

  • यह मेमोरी कंप्यूटर में टेंपररी कार्य करती है।
  • जरूरत पड़ने पर इस मेमोरी में डेटा को स्टोर किया जा सकता है।
  • यह कंप्यूटर की प्राथमिक मेमोरी होती है।
  • इस मेमोरी में हम अपना डेटा, फाइल्स और डॉक्यूमेंट को स्टोर कर सकते है।

8- फ्लॉपी डिस्क (Floppy Disk)

दोस्तो यह एक द्वितीय स्टोरेज डिवाइस होती है, जोकि हार्ड डिस्क की तरह मेग्नेटिक टेक्नोलॉजी पर कार्य करती है, जब आपके कंप्यूटर में मेमोरी फुल हो जाए या फिर आपको कंप्यूटर का डेटा किसी अन्य जगह पर ट्रांसफर करना हो तो ऐसे में इस मेमोरी का इस्तेमाल किया जाता है।
 
फ्लॉपी डिस्क में डाटा स्टोर और ऑपरेटिंग सिस्टम को इनस्टॉल भी कर सकते है, पहली सन 1969 में फ्लॉपी डिस्क को बनाया गया था, यह एक एक्सटर्नल मेमोरी होती है, जोकि बहुत ही पतली और लचीली होती है, वर्तमान समय में इसका इस्तेमाल नही किया जाता है, इसकी जगह पर CD /DVD और पेन ड्राइव का प्रयोग किया जाता है।
 

फ्लॉपी डिस्क के कार्य:

  • इमरजेंसी में इसका इस्तेमाल किया जाता है।
  • डेटा ट्रांसफर करने के लिए भी इसका उपयोग किया जाता था।
  • यह एक एक्सटर्नल मेमोरी होती है।
  • फ्लॉपी डिस्क में डाटा स्टोर और ऑपरेटिंग सिस्टम को इंस्टॉल किया जा सकता है।

9- प्रिंटर (Printer) 

दोस्तो प्रिंटर जोकि एक आउटपुट डिवाइस होता है, प्रिंटर हमारे लिए काफी उपयोगी और महत्वपूर्ण डिवाइस में से एक होता है, प्रिंटर की मदद से आप कंप्यूटर में दिखाई दे रहे हैं फोटो, पीडीएफ फाइल या फिर किसी फॉर्म को पेपर के रूप में छाप सकते हैं अर्थात आप किसी भी डॉक्यूमेंट को कागज के रूप में निकाल सकते है।
 
दोस्तो प्रिंटर का इस्तेमाल सॉफ्ट कॉपी को हार्ड कॉपी में बदलने के लिए किया जाता है, दोस्तो प्रिंटर कई प्रकार के होते हैं, जैसे जैसे लेज़र प्रिंटर, फ़ोटो प्रिंटर, कलर प्रिंटर, इंकजेट प्रिंटर, डिजिटल प्रिंटर आदि, मार्केट में हर तरीके के प्रिंटर हमें आसानी से मिल जाते है।
 

प्रिंटर के कार्य: 

  • सॉफ्ट कॉपी को हार्ड कॉपी में बदलना।
  • फॉर्म और दस्तावेजों को कागज के रूप में छाप सकते है।
  • लेकर प्रिंट एवं कलर प्रिंट निकाल सकते है।
  • डॉक्यूमेंट को हार्ड कॉपी में बदल सकते है।

10- स्कैनर (Scanner) 

दोस्तो स्कैनर भी कंप्यूटर का एक महत्वपूर्ण भाग होता है, स्कैनर की कार्यविधि प्रिंटर के बिलकुल विपरीत होती है, Scanner हार्ड कॉपी को स्कैन करके सॉफ्ट कॉपी में बदलता है, स्कैनर की मदद से आप किसी भी कोड, डॉक्यूमेंट, फाइल्स को स्कैन करके कंप्यूटर पर Upload कर सकते है।
 
Scanner की मदद से आप अपने किसी डॉक्यूमेंट जैसे आधार कार्ड, पैन कार्ड या अन्य किसी डॉक्यूमेंट को डिजिटल फाइल के रूप में बदल सकते हैं, और इस प्रकार से आप किसी भी कागज को स्कैनर की मदद से डिजिटल रूप में परिवर्तित कर सकते है, स्कैनर एक इनपुट डिवाइस होता है।
 

स्कैनर के कार्य:

  • हार्ड कॉपी को सॉफ्ट कॉपी के रूप में बदलना।
  • डॉक्यूमेंट को स्कैन करके डिजिटल रूप में बदलना।
  • टेक्स्ट, फाइल्स को स्कैन करके डिजिटल रूप में परिवर्तित करना।
  • कंप्यूटर को इनपुट डेटा प्रदान करना।

11- स्पीकर (Speaker)

दोस्तो स्पीकर एक प्रकार का आउटपुट डिवाइस होता है, कंप्यूटर की ध्वनि, आवाज या संगीत को स्पीकर की मदद से सुना जा सकता है, स्पीकर ध्वनि के रूप में आउटपुट डेटा प्रदान करता है, किसी भी प्रकार का सॉन्ग अथवा ऑडियो सुनने के लिए स्पीकर की मदद ली जाती है।
 
स्पीकर कंप्यूटर के अंदर इनबिल्ट होता है, और यह कंप्यूटर का एक मुख्य भाग होता है, आप चाहे तो अधिक आवाज में ऑडियो सुनने के लिए अतिरिक्त स्पीकर यूएसबी अथवा ब्लूटूथ की मदद से जोड़ सकते है।
 

स्पीकर का कार्य:

  • ध्वनि के रूप में आउटपुट निकालना।
  • गाने या किसी प्रकार का ऑडियो सुन सकते है।
  • स्पीकर कंप्यूटर से आउटपुट प्रदान करता है।
  • म्यूजिक, यूट्यूब वीडियो सुनने के लिए स्पीकर उपयोगी होता है।

12- वेबकैम (Webcam)

दोस्तो वेबकैम एक प्रकार का वेब कैमरा होता है जिसका इस्तेमाल कंप्यूटर में वीडियो कॉलिंग अथवा वीडियो रिकॉर्डिंग के लिए किया जाता है, वेबकैम एक प्रकार का इनपुट डिवाइस होता है जो की छवि और वीडियो के रूप में कंप्यूटर को इनपुट प्रदान करता है।
 
वेबकैम का इस्तेमाल आमतौर पर वीडियो कॉलिंग पर मीटिंग अटेंड करने के लिए किया जाता है, आजकल वेबकैम में माइक्रोफोन भी लगे होते है, जिससे हमें अलग से ऑडियो पोर्ट लगाने की आवश्यकता नहीं पड़ती है, वेबकैम कंप्यूटर को हम कंप्यूटर का एक महत्वपूर्ण भाग मान सकते है।
 

वेबकैम के कार्य:

  • वीडियो कॉलिंग करने के लिए।
  • वीडियो रिकॉर्डिंग करने के लिए।
  • फोटो क्लिक करने के लिए।
  • वीडियो और फोटो के रूप में इनपुट प्राप्त करने के लिए।

13- वीडियो कार्ड (Video Card)

दोस्तो वीडियो कार्ड कंप्यूटर का ऐसा भाग होता है, जिसकी मदद से आप मॉनिटर पर वीडियो या चित्र देख पाते हों, यह ज्यादातर कंप्यूटरों में जीपीयू में ही उपस्थित रहता है, दोस्तो अगर आप अपने कंप्यूटर में वीडियो कार्ड लगाकर कोई हाई ग्राफिक्स वाला गेम खेलते है, 
 
तो इससे आपके कंप्यूटर की ग्राफिक परफॉर्मेंस अच्छी हो जाती है, और आप आसानी से हाई ग्राफिक्स वाले गेम खेल पाएंगे, वीडियो कार्ड कंप्यूटर का एक महत्वपूर्ण भाग माना जा सकता है 
 

वीडियो कार्ड के कार्य: 

  • वीडियो क्वालिटी को बेहतर करना।
  • कंप्यूटर पर हाई ग्राफिक्स वाले गेम खेलने मदद करता है।
  • कंप्यूटर की पिक्चर्स क्वालिटी बेहतर करने के लिए।

14- साउंड कार्ड (Sound Card)

दोस्तो Sound Card एक आउटपुट डिवाइस है, साउंड कार्ड एक ऐसा आउटपुट डिवाइस होता है जिसको कंप्यूटर के मदरबोर्ड में इंसर्ट किया जाता है, ताकि कंप्यूटर के साउंड को बेहतर बनाया जा सके, जिससे की यूजर्स को साउंड सुनने में आनंद आए। 
 
साउंड कार्ड को ऑडियो कार्ड भी कहते हैं, वैसे तो आजकल सभी कंप्यूटर में साउंड कार्ड लगे हुए होते है, परंतु अगर आप हाई क्वालिटी में साउंड सुनना चाहते है, तो आप मार्केट से अलग से साउंड कार्ड खरीद सकते है।
 

साउंड कार्ड के कार्य:

  • कंप्यूटर के साउंड की क्वालिटी को बढ़ाना।
  • हाई क्वालिटी साउंड सुनने के लिए साउंड कार्ड का इस्तेमाल होता है।

15- नेटवर्क कार्ड (Network Card)

दोस्तो नेटवर्क कार्ड कंप्यूटर के मुख्य भाग में से एक होता है, नेटवर्क कार्ड को ईथरनेट और Lan कार्ड के नाम से भी जाना जाता है, नेटवर्क कार्ड की मदद से ही कंप्यूटर को इंटरनेट और अन्य नेटवर्क (Lan, Man, Can) से जोड़ सकते है। नेटवर्क कार्ड कंप्यूटर के मदर बोर्ड में फिक्स रहता है।
 
अगर आपके कंप्यूटर के मदर बोर्ड में लगा हुआ नेटवर्क कार्ड ठीक तरीके से कार्य नहीं करता है तो आप मार्केट से अलग से नेटवर्क कार्ड खरीदकर लगा सकते है, नेटवर्क कार्ड की मदद से आप अपने कंप्यूटर को अन्य डिवाइस जैसे की प्रिंटर ,स्कैनर , फैक्स मशीन से जोड़ सकते हैं।
 

नेटवर्क कार्ड के कार्य:

  • कंप्यूटर को इंटरनेट से जोड़ने के लिए।
  • कंप्यूटर में इंटरनेट की स्पीड को फास्ट करना।

16- एसएमपीएस (SMPS)

दोस्तो SMPS का पूरा नाम Switch mode power supply होता है, जिसको हिंदी में स्विच मॉड पावर सप्लाई कहते है, यह आपके कंप्यूटर में बिजली की आपूर्ति करने के लिए लगा हुआ एक डिवाइस होता है, यह डिवाइस कंप्यूटर में 220 से 240 वोल्टेज पर काम करता है।
 
SMPS का मुख्य कार्य इलेक्ट्रिक बोर्ड से आने वाले AC (Alternative Current) सिग्नल को DC (Direct Current) सिग्नल में Convert करके कंप्यूटर से कनेक्ट सभी डिवाइस जैसे की प्रोसेसर, हार्ड डिस्क, मदर बॉर्ड, कंप्यूटर फैन, डीवीडी ड्राइव आदि को उनकी जरुरत के अनुसार अलग अलग DC पावर सप्लाई करना।
 

17- ऑप्टिकल डिस्क ड्राइव (Optical Disc Drive)

दोस्तो ऑप्टिकल डिस्क ड्राइव की मदद से आप अपने कंप्यूटर पर CD या DVD लगाकर मूवीज देख सकते हैं सॉफ्टवेयर इंस्टॉल कर सकते है इसके अलावा डाटा स्टोर से जुड़े हुए कार्य कर सकते हैं। यह डिवाइस कैबिनेट के फ्रंट (सामने) में लगी होती है। 
 
आप खाली CD या DVD को अपने कंप्यूटर के Optical Disc Drive में लगाकर उसमें कोई Movies, Song या कोई सॉफ्टवेयर स्टोर सकते हैं।
 

18- कंप्यूटर केस (Computer Case)

Computer case का प्लास्टिक का बना हुआ एक डब्बा होता है, जिसमें कंप्यूटर के सभी इंटरनल पार्ट (Hard Disk, Mother board, SMPS, CD/DVD) पार्ट्स फिट किये जाते हैं। कंप्यूटर केस को कैबिनेट, CPU बॉक्स आदि नामों से भी जाना जाता है।
 
इस कैबिनेट के सामने की तरफ आपको On/off , USB, माइस, साउंड आदि के बटन तथा ऑप्टिकल ड्राइव स्लॉट मिलेंगे। Computer Case मार्केट में आपको अलग अलग शेप और साइज के दिखाई देंगे।
 
दोस्तो कंप्यूटर के यह प्रमुख मुख्य भाग होते है जिनके बारे में हमारे द्वारा आपको विस्तार से जानकारी दी गई है, आसा करते है की आपको कंप्यूटर के मुख्य भाग (Parts Of Computer In Hindi) से संबंधित यह जानकारी पसंद आई होगी।
 

Parts Of Computer In Hindi से संबंधित FAQs

 

कंप्यूटर के पार्ट्स कौन कौन से होते हैं?

दोस्तो कंप्यूटर के मुख्य पार्ट्स निम्नलिखित है – मॉनिटर, कीबोर्ड, माउस, सीपीयू, हार्ड डिस्क, स्पीकर, रैम, मदर बोर्ड, फ्लॉपी डिस्क, वीडियो कार्ड, साउंड कार्ड, प्रिंटर आदि।

कंप्यूटर के मुख्य भाग के नाम क्या हैं?

दोस्तो कंप्यूटर के मुख्य भाग के नाम इस प्रकार हैं – मॉनिटर, कीबोर्ड, माउस, सीपीयू, हार्ड डिस्क, स्पीकर, रैम, मदर बोर्ड, फ्लॉपी डिस्क, वीडियो कार्ड, साउंड कार्ड, प्रिंटर आदि।

कंप्यूटर के भागों के नाम क्या है?

दोस्तो कंप्यूटर के भागों के नाम निम्नलिखित हैं – मॉनिटर, कीबोर्ड, माउस, सीपीयू, हार्ड डिस्क, स्पीकर, रैम, मदर बोर्ड, फ्लॉपी डिस्क, वीडियो कार्ड, साउंड कार्ड, जीपीयू प्रिंटर आदि।

निष्कर्ष: कंप्यूटर के मुख्य भाग

दोस्तो उम्मीद है की आपको कंप्यूटर के मुख्य भाग (Parts Of Computer In Hindi) से संबंधित यह जानकारी पसंद आई होगी, इस लेख में हमारे द्वारा Computer Parts Name In Hindi, कंप्यूटर के घटक, Computer ke Parts in hindi से जुड़ी हुई और भी जानकारी साझा की गई है, 
 
अगर यह जानकारी आपको पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तो तक अवश्य शेयर करें और अगर आपके मन में कोई सवाल या सुझाव हो तो आप कमेंट के माध्यम से पूछ सकते है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!