Tally Kya hai, Tally meaning In Hindi, Tally Ka Full Form, What is Tally In Hindi,

Tally meaning In Hindi – टैली क्या है और टैली कैसे सीखें ?

Tally Kya hai, Tally meaning In Hindi, टैली क्या है, टैली एकाउंटिंग क्या है, Tally Full Form In Hindi  
 

हेलो दोस्तो हमारे इस ब्लॉग InfosHindi में आपका एक दफा फिर से स्वागत है, इस ब्लॉग पोस्ट में हम टैली क्या है (Tally meaning In Hindi) के बारे में चर्चा करने वाले है।

साथ मे जानेंगे कि टैली कैसे सीखें, टैली कितने प्रकार की होती है, टैली की परिभाषा क्या है ओर टैली का फुल फॉर्म क्या है, से जुड़ी हुई सभी प्रकार की जानकारी आज के इस लेख में हम आपको देने वाले है।
 
दोस्तो आज से कुछ सालों पहले तक बिज़नेस से जुड़ी हुई पैसो ओर समान के खरीद की लेन-देन के लिए डॉक्यूमेंट ओर दस्तावेज बनाने पड़ते थे, क्योकि आज से 15 से 20 पहले तक टेक्नोलॉजी की फील्ड में इतना विकास नही हुआ था।
 
लेकिन पिछले कुछ सालों में टेक्नोलॉजी ने विकास जो रफ्तार पडकी है, वह रुकने का नाम नही ले रही है, आज के समय मे रोज नए-नए सॉफ्टवेयर बन रहे है, जिनके कई सारे फायदे है।
 
Tally Kya hai, Tally meaning In Hindi, Tally Ka Full Form, What is Tally In Hindi,
 
आज के समय मे किसी भी बिजनेस में पैसो की लेन-देन के लिए कंप्यूटर सॉफ्टवेयर टैली का उपयोग किया जाता है, बिज़नेस में किसी भी प्रकार के पेचीदा झोकिम जैसे लाभ एवं हानि की गणना के लिए, टैली सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल किया जा सकता है,
 
टैली एक बहुत ही बढ़िया सॉफ्टवेयर है, जिसकी मदद से हम अपने बिज़नेस में खर्च हुए पैसो का हिसाब रख सकते है, आज हम टैली से जुड़े हुए सवालों जैसे टैली क्या है, और टैली का फुल फॉर्म क्या है के बारे में बात करने वाले है।
 

Table of Contents

टैली का फुल फॉर्म क्या है ? (Tally ka Full Form)

टैली का फुल फॉर्म “Transactions Allowed in a Linear Line Yards” होता हैं। जिसको हिंदी भाषा मे एक लीनियर लाइन यार्ड में लेन-देन की अनुमति देना है, यह टैली का फुल फॉर्म होता है। 
 
टैली एक सॉफ्टवेयर होता है, जिसका उपयोग बिज़नेस में लेन-देन के लिए किया जाता है, आइये अब टैली क्या है, के बारे में थोड़ा विस्तार से जानकारी प्राप्त करते है।
 

Tally Kya Hai ? (Tally Meaning In Hindi)

दोस्तो टैली एक लोकप्रिय एकाउंटिंग सॉफ्टवेयर है, जिसका उपयोग बिज़नेस में पैसे की गणना करने एवं पैसे की लेन-देन का हिसाब किताब ओर मैनेज करने के लिए किया जाता है।
 
Tally Software का भारतीय बहुराष्ट्रीय कंपनी Tally Solution Pvt Ltd के द्वारा किया गया है, टैली सॉफ्टवेयर का उपयोग किसी भी बिज़नेस के अकाउंटेंट को मैनेज करने के लिए किया जाता है।
 
आज के समय मे कोई भी कंपनी हो चाहे वो छोटी हो या फिर बड़ी हो, कंपनी के व्यापार के लिए किसी ना किसी एकाउंटिंग सॉफ्टवेयर की जरूरत तो पड़ती ही है, क्योकि आज के समय मे सभी काम ऑनलाइन तरीके से हो रहे है।
 
ऐसे में किसी भी बिज़नेस के हिसाब का लेखा – जोखा रखने के लिए नोट्स में बनाना मुश्किल रहता है, जिसके समाधान के लिए सन 1986 में Tally Solution Pvt Ltd का निर्माण किया गया, 
 
टैली सॉफ्टवेयर किसी भी बिज़नेस के लाभ-हानि को मैनेज करने के लिए बहुत ही उपयोगी माना जाता है, टैली सॉफ्टवेयर की लोकप्रियता का अंदाजा इस हिसाब से लगाया जा सकता है।
 
की इस सॉफ्टवेयर का उपयोग ना सिर्फ इंडिया में बल्कि 100 से ज्यादा देशों में इसका उपयोग किया जाता है, क्योकि इसका इस्तेमाल करना बहुत ही ज्यादा आसान है, ओर टैली सॉफ्टवेयर किसी भी कंपनी के लाभ-हानि ओर पैसो की गणना करने के लिए सर्वोत्तम माना जाता है।
 
इसका प्रमुख कारण यह है, की इसमें समय-समय पर लेटेस्ट अपडेट देखने को मिल जाते है, दोस्तो बहुत से लोग गूगल पर सर्च करते है, की Tally ERP 9 क्या है, इसके बारे में जानकारी प्राप्त करते है।
 

Tally ERP 9 क्या है ? 

दोस्तो Tally ERP 9 टैली सॉफ्टवेयर का लेटेस्ट वर्जन है, जोकि बहुत ही आधुनिक माना जाता है, टैली समय- समय पर अपने नए-नए अपडेट लाता रहता है, जिसका लाभ टैली के उपयोगकर्ताओं को मिलता रहा है।
.
अब तक टैली में कई सारे अपडेट देखने को मिले है, जोकि निम्नलिखित है – Tally 4.5, 5.4, 6.3, 7.2, 9.0 ओर अब लेटेस्ट Tally ERP 9 है, आइये अब टैली के इतिहास के बारे में बात करते है।
 

टैली का इतिहास – History Of Tally In Hindi 

टैली सॉफ्टवेयर की स्थापना Tally Solution Pvt Ltd के द्वारा सन 1986 में श्याम सुदंर गोयंका तथा उनके बेटे भारत गोयंका के द्वारा की गई थी, आज इसका उपयोग ना सिर्फ भारत मे बल्कि विदेश में भी किया जाता है।
 
दोस्तो टैली सोलुशन के संस्थापक श्री श्याम सुंदर गोयंका जी एक मिडिल क्लास फैमली के रहने वाले थे, जोकि शुरुआत में एक व्यापारी के रूप में कार्य करते थे, वे Textile Company को Machine एवं Raw Material सप्लाई करने का काम करते थे।
 
उन्हें कंपनी को भेजे जाने वाले Machine एवं Raw Material के हिसाब – किताब लगाने में काफी समस्या आती थी, तब उन्होंने अपने बेटे भारत गोयंका के साथ एक ऐसा सॉफ्टवेयर बनाने की सोची जोकि उनके द्वारा भेजे जाने वाले मटेरियल की जानकारी रख पाए।
 
तभी उन्होंने इस सॉफ्टवेयर की स्थापना की, शुरुआत में टैली सॉफ्टवेयर सिर्फ एकाउंटिंग के लिए उपयोग में लाया जाया करता था, शुरुआत में इस सॉफ्टवेयर का नाम MS-DOS हुआ करता था।
 
लेकिन सन 1988 में इसका नाम बदलकर टैली रख दिया, जिसके बाद सन 1999 में इसका नाम बदलकर टैली सोलुशन कर दिया गया। सन 2016 में टैली सोलुशन का इस्तेमाल करने वाले लोगो की संख्या 2M से ज्यादा हो गई थ।
 
जिसके एक साल बाद Tally Solution Pvt Ltd के द्वारा GST Update Software लांच किया गया, आज के समय मे पूरे देश मे टैली एक लोकप्रिय सॉफ्टवेयर माना जाता है, आइये अब बात करते है, की टैली सॉफ्टवेयर फ़ीचर्स क्या है।
 

टैली सॉफ्टवेयर फ़ीचर्स – Tally Features in Hindi 

दोस्तो टैली सॉफ्टवेयर का इतना लोकप्रिय होने की कई सारी वजह है, इन्ही वजहों में से एक इसके फ़ीचर्स है, टैली में कई सारे कमाल के फ़ीचर्स देखने को मिल जाते है, आइये इन सभी के बारे में थोड़ा विस्तार से जानकारी प्राप्त करते है- 
 

Accounting 

दोस्तो टैली में एकाउंटिंग से जुड़े हुए सभी विकल्प देखने को मिल जाते है, आप टैली के द्वारा अपने बिज़नेस के लेखे-जोखे को आसानी से एकाउंटिंग की सहायता से मैनेज कर सकते है।
 

Banking 

दोस्तो टैली सॉफ्टवेयर में बैंकिंग से जुड़े हुए भी कई सारे विकल्प मिल जाते है, जिनकी सहायता से बैंक में लेन – देंन को आसानी से मैनेज किया जा सकता है, बहुत सी बैंक इस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करती है।
 

GST Analysis 

दोस्तो टैली सॉफ्टवेयर की खास बात यह है, की इसमें आपको जीएसटी एनालिसिस का भी एक बहुत ही बेहतरीन विकल्प मौजूद मिल जाता है।
 

Billing 

दोस्तो टैली सॉफ्टवेयर में आपको बिलिंग के रूप में एक ऑप्शन मिल जाता है, जिसकी सहायता से आप बिल तैयार कर सकते है।
 

Recording

दोस्तो आपके द्वारा बनाये गए बिल, या फिर आपके द्वारा रखे गए व्यापार के हिसाब-किताब को रिकॉर्ड करने का भी एक ऑप्शन मिल जाता है।
 

Payroll 

दोस्तो टैली सॉफ्टवेयर में आपको एक Payroll का भी ऑप्शन देखने को मिल जाता है।

 

Ratio Analysis

दोस्तों टैली की सबसे खास बात यह है, की इसमें आपको Ratio Analysis के रूप में भी एक ऑप्शन देखने को मिल जाता है।
 

Payment Entries

दोस्तो इसमें आपको पेमेंग एंटरीस का भी एक बहुत ही अच्छा ऑप्शन देखने को मिल जाता है, जिसकी मदद से आप पेमेंग एंटरीस रख सकते है, इसके अलावा Payment Receipt ओर जिसका पेमेंट नही हुआ है, इसकी जानकारी भी आप इसमें रख सकते हो।
 
दोस्तो इसके अलावा भी आपको टैली सॉफ्टवेयर में कई छोटे-बड़े फ़ीचर्स देखने को मिल जाते है, यह प्रमुख खास फ़ीचर्स थे जिनके बारे में आपको जानकारी मिल गई होगी आइये अब बात करते है, की टैली में कैरियर ऑप्शन क्या है।
 

टैली में कैरियर ऑप्शन क्या है ? 

दोस्तो जिन स्टूडेंट ने 12वी कॉमर्स सब्जेक्ट से की है, वह स्टूडेंट टैली में कैरियर ऑप्शन पा सकते है, 12वी कॉमर्स सब्जेक्ट से करने के बाद आप Accounting Course या फिर Tally Accounting Course करके,
 
इस फील्ड में अपना कैरियर बना सकते है, वैसे इस फील्ड में इतनी ज्यादा इनकम नहीं है, लेकिन गलती से आपने कॉमर्स सब्जेक्ट ले लिया है, तो आपको टैली एकाउंटिंग कोर्स जरूर करना चाहिए।
 
 क्योंकि आने वाले समय मे टैली की फील्ड में कई सारी जॉब्स आने वाली है, आइये अब बात करते है, की Tally Course Kaise kare.
 

टैली एकाउंटिंग कोर्स कैसे करें?(Tally Accounting Course kaise kare)

दोस्तो जो भी लोग टैली की फील्ड में अपना कैरियर बनाना चाहता है, वह Tally Accounting Course कर सकता है, दोस्तो आप टैली एकाउंटिंग कोर्स किसी भी नजदीकी कंप्यूटर सेंटर या फिर नजदीकी टैली एकाउंटिंग सेंटर में कर सकते है।
 
या फिर आप चाहे तो टैली एकाउंटिंग कोर्स को किसी अच्छी टैली एकाउंटिंग अकादमी से कर सकते है, जो भी स्टूडेंट टैली एकाउंटिंग कोर्स करना चाहता है, उसे 12वी कॉमर्स सब्जेक्ट से पास करनी होती है।
 
जिसके बाद वह आसानी से टैली एकाउंटिंग कोर्स करके टैली एकाउंटिंग की फील्ड में अपना कैरियर बना सकता है, इस फील्ड में आप टैली ओर अकाउंटेंट के रूप में कार्य कर सकते है, यदि आप टैली एकाउंटिंग कोर्स को किसी अकादमी से करते है।
 
तो कोर्स कंप्लेट होने के बाद आपको टैली कोर्स का सर्टिफिकेट भी दिया जाता है, जिसे बताकर आप जॉब पा सकते है, आइये अब बात करते है, की टैली कोर्स की फीस कितनी होती है।
 

टैली कोर्स की फीस कितनी है ?

दोस्तो टैली एकाउंटिंग करने के लिए कई कोर्स होते है, जिनके माध्यम से आप टैली की पढ़ाई कर सकते है, अगर देखा जाए तो टैली एकाउंटिंग कोर्स की फीस हमेसा कंप्यूटर सेंटर पर डिफेंड करती है।
 
कोन कितनी फीस ले रहा है, गांवो में टैली एकाउंटिंग कोर्स की अनुमानित फीस 5000 रुपये हो सकती है, जबकि शहरो में टैली एकाउंटिंग कोर्स की अनुमानित फीस 10000 से 15000 हजार रुपये हो सकती है।
 
अगर देखा जाए तो टैली एकाउंटिंग कोर्स की फीस 5000 से लेकर 15000 हजार रुपये होती है, टैली कोर्स की फीस इतनी कम इसलिए है, क्योकि यह एक छोटी फील्ड है।
 
ओर इस फील्ड से आप इतने ज्यादा पैसे भी नही कमा सकते है, आइये अब बात करते हैं, की टैली कोर्स कितने समय का होता हैं।
 

टैली कोर्स कितने समय का होता हैं ?

टैली एकाउंटिंग कोर्स 3 महीने से लेकर 6 महीने तक का हो सकता है, सामान्यतः टैली एकाउंटिंग कोर्स 3 महीने का होता है, जिसके शुरुआती महीने में आपको टैली एकाउंटिंग की बेसिक जानकारी दी जाती है।
 
एवं अगले 2 महीनों में आपको टैली ओर एकाउंटिंग के बारे में एडवांस जानकारी दी जाती है, जहाँ पर आपको जीएसटी कैलकुलेशन के बारे में भी बताया जाता है, आइये अब जानते है, की टैली कोर्स के बाद सैलरी कितनी मिलती है।
 

टैली कोर्स के बाद सैलरी कितनी होती है ?

दोस्तो टैली कोर्स करने के बाद आपको शुरुआत के कुछ महीनों में 8000 से 10000 रुपये महीना की सैलरी प्राप्त हो सकती है, जोकि आपको कम लग रही होगी, लेकिन इस फील्ड में आपको ज्यादा सैलरी प्राप्त करने,
 
के बहुत कम ही आसार रहते है, लेकिन आपको अनुभव हो जाने पर एक से दो साल बाद टैली की फील्ड में आप 20 से 25 हजार रुपए महीना तक प्राप्त कर सकते है, इससे ज्यादा सैलरी आपको नही मिल पाएगी। 
 
क्योकि यह टैली की फील्ड में अधिकतम सैलरी होती है, इससे ज्यादा सैलरी प्राप्त करने के लिए आप किसी दूसरी फील्ड में जॉब कर सकते है।

 

टैली सॉफ्टवेयर के फायदे 

दोस्तो टैली सॉफ्टवेयर के कई सारे फायदे है, जोकि कुछ इस प्रकार से है- 
  • टैली सॉफ्टवेयर में आपको बिलिंग के रूप में एक ऑप्शन मिल जाता है।
  • इसमें आपको पेमेंग एंटरीस का भी एक बहुत ही अच्छा ऑप्शन देखने को मिल जाता है, जिसकी मदद से आप पेमेंग एंटरीस रख सकते है।
  • टैली सॉफ्टवेयर में आपको एक Payroll का भी विकल्प देखने को मिल जाता है।
  • टैली सॉफ्टवेयर में बैंकिंग से जुड़े हुए भी कई सारे ऑप्शन मिल जाते है।
  • टैली सॉफ्टवेयर की खास बात यह है, की इसमें आपको जीएसटी एनालिसिस का भी एक बहुत ही अच्छा ऑप्शन मिल जाता है।
  • टैली आपको Ratio Analysis के रूप में भी एक अच्छा ऑप्शन देखने को मिल जाता है।
दोस्तो टैली सॉफ्टवेयर के यह प्रमुख फायदे थे, जिनके बारे में अब आप जान चुके होंगे, टैली सॉफ्टवेयर के यह खास फायदे थे, इसके अलावा भी इसमें कई सारे बेनेफिट्स देखने को मिल जाते है, दोस्तो आसा करते है, की आपको टैली क्या है (Tally meaning In Hindi) से संबंधित यह जानकारी पसंद आई होगी।
 

Tally Meaning In Hindi से संबंधित FAQ 

दोस्तो टैली का फुल फॉर्म क्या है से जुड़े हुए आपके मन मे ओर भी कई सारे सवाल हो सकते है, जिनके जवाब आपको FAQ के माध्यम से मिल जाएंगे- 

टैली में क्या सिखाया जाता है?

टैली में एकाउंटिंग के बारे में सिखाया जाता है,इडके अलावा बिलिंग ओर जीएसटी कैलकुलेशन के बारे में भी सिखाया जाता है।

टैली जॉब सैलरी ?

टैली जॉब में सैलरी शुरुआती कुछ महीनों में 8 से 10 हजार होती है, जबकि अनुभव होने के बाद 15 से 20 हजार तक सैलरी मिल जाती है।

टैली कोर्स क्या है ?

टैली से संबंधित जानकारी सीखने के लिए टैली कोर्स की पढ़ाई करना जरूरी होता है।

टैली के जनक कौन है?

टैली सॉफ्टवेयर की स्थापना Tally Solution Pvt Ltd के द्वारा सन 1986 में श्याम सुदंर गोयंका तथा उनके बेटे भारत गोयंका के द्वारा की गई थी।

टैली कैसे सीखें?

टैली सीखने के लिए टैली से संबंधित कोर्स करना होगा, जिसमे आपको टैली के बारे में सारी जानकारी मिल जाएगी।

टैली का फुल फॉर्म क्या है?

टैली का फुल फॉर्म “Transactions Allowed in a Linear Line Yards” होता हैं। जिसको हिंदी भाषा मे एक लीनियर लाइन यार्ड में लेन-देन की अनुमति देना है।

टैली क्या है?

टैली एक लोकप्रिय एकाउंटिंग सॉफ्टवेयर है, जिसका उपयोग बिज़नेस में पैसे की गणना करने एवं पैसे की लेन-देन का हिसाब किताब ओर मैनेज करने के लिए किया जाता है, Tally Software का भारतीय बहुराष्ट्रीय कंपनी Tally Solution Pvt Ltd के द्वारा किया गया है

टैली कोर्स कितने दिनों का होता है?

टैली कोर्स 2 से 3 महीने का होता है, जिसमें आपको एकाउंटिंग की सारी जानकारी दी जाती है।

निष्कर्ष : टैली क्या है

आसा करते है, की आपको टैली क्या है (Tally Meaning In Hindi) से संबंधित यह लेख पसंद आया होगा, इस लेख में हमारे द्वारा Tally Kya hai ओर टैली का फुल फॉर्म क्या है के बारे में भी जानकारी दी है, साथ मे What Is tally In Hindi के बारे मे सम्पूर्ण जानकारी दी गई है।
 
इस लेख में हमारी टीम द्वारा टैली क्या है के बारे में बहुत ही अच्छे से एक्सप्लेन किया गया है, यदि यह जानकारी आपको पसंद आई है, तो इसे अपने दोस्तों तक जरूर शेयर करें, ओर यदि आपके मन मे इस लेख से संबंधित कोई सवाल है।
 
तो आप हमें कमेंट के माध्यम से बता सकते है, इसके अलावा ऐसी ही ओर भी महत्वपूर्ण जानकारी पाने के लिए आप हमारे इस ब्लॉग को गूगल पर भी सर्च कर सकते है।


Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!