वीपीएन क्या होता है, VPN Kya hota hai, वीपीएन का फुल फॉर्म क्या होता है, VPN Full Form In Hindi, VPN कैसे काम करता है, What is VPN In Hindi

VPN क्या होता है ? VPN कैसे काम करता है और इसके प्रकार

वीपीएन क्या होता है, VPN Kya hota hai, वीपीएन का फुल फॉर्म क्या होता है, VPN Full Form In Hindi
 

दोस्तो आप सभी का इस ब्लॉग पोस्ट में बहुत बहुत स्वागत है, जहां पर हम वीपीएन क्या होता है (VPN Kya hota hai) के बारे में बात करने वाले है। साथ में जानेंगे की वीपीएन का फुल फॉर्म क्या होता है, VPN कैसे काम करता है, वीपीएन सेटिंग कैसे करें।

दोस्तो वर्तमान समय में हर कोई इंटरनेट का इस्तेमाल करता है, और आपमें से कई सारे लोगो ने इंटरनेट पर VPN के बारे में जरूर सुना होगा, क्योंकि जब भी इंटरनेट की सुरक्षा को लेकर बात आती है, वहां पर वीपीएन का नाम जरूर लिया जाता है
 
क्योंकि आज के समय में हैकर काफी ज्यादा बढ़ गए है, और ऑनलाइन पर्सनल डाटा को सुरक्षित रखना एक बड़ी चुनौती है, दोस्तो इंटरनेट की सुरक्षा में VPN का अहम योगदान रहता है, लेकिन बहुत से लोगो को वीपीएन क्या होता है से जुड़ी हुई बिलकुल भी जानकारी नहीं है 
वीपीएन क्या होता है, VPN Kya hota hai, वीपीएन का फुल फॉर्म क्या होता है, VPN Full Form In Hindi, VPN कैसे काम करता है, What is VPN In Hindi
अगर आपको भी नहीं पता है, की वीपीएन का फुल फॉर्म क्या है और VPN कैसे काम करता हैं, तो आज की हमारी इस ब्लॉग पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़े, क्योंकि आज हम वीपीएन क्या होता है, से जुड़ी हुई सभी महत्वपूर्ण जानकारी देने वाले है।
 

वीपीएन क्या होता है ? (VPN Kya Hota hai)

दोस्तो वीपीएन का पूरा नाम वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क होता है, यह एक ऐसी नेटवर्क टेक्नोलॉजी है, जोकि असुरक्षित नेटवर्क को सुरक्षित नेटवर्क में परिवर्तित करने का कार्य करती है, साथ ही यूजर्स को वास्तविक लोकेशन और आइडेंटिटी छुपाने में मदद करती है।
 
अर्थात की वीपीएन आपकी वास्तविक पहचान को छुपाने में आपकी मदद करता है, और इसे गुपनीय रखने का कार्य करता है, और इसके साथ साथ आपके डाटा को हैक होने से बचाने का कार्य करता है, इसके अलावा आपको Freedom Of Internet अर्थात इंटरनेट पर कुछ भी करने की आजादी देता है।
 
वीपीएन आपको प्रतिबंधित सेवाओं और वेबसाइटो तक पहुंचने की इजाजत प्रदान करता है, कुल मिलाकर VPN आपको सुरक्षित ब्राउजिंग में आपकी मदद करता है, आप किसी भी वेबसाइट को ओपन करते है या उस पर डाटा का आदान प्रदान करते है, 
 
तो डाटा चोरी होने की समस्या को रोकने के लिए वीपीएन आपकी मदद कर सकता है, दोस्तो वर्तमान समय में हैकर नए नए तरीको से हैकिंग कर रहे है, और हैकर से बचने का सबसे सुरक्षित तरीका वीपीएन ही है, आइए अब जानते है, की वीपीएन का फुल फॉर्म क्या है।
 

वीपीएन का फुल फॉर्म क्या है? (VPN Full Form in Hindi)

वीपीएन का फुल फॉर्म Virtual Private Network होता है, जिसको हिंदी में आभासी निजी संजाल कहा जाता है, दोस्तो वीपीएन सॉफ्टवेयर होते है, जोकि सुरक्षित ब्राउजिंग करने और हैकर से आपके डाटा को बचाने में आपकी मदद करते है, 
 
VPN को आप अपने फोन में एक्टिवेट करके सुरक्षित तरीके से ब्राउजर पर कुछ भी सर्च कर सकते है, VPN आपकी लोकेशन को और आपके डाटा को प्राइवेट रखता है, ताकि किसी को अंदाजा ना हो की आप गूगल पर क्या सर्च कर रहे हैं और आपकी लोकेशन क्या है।
 

VPN कैसे काम करता है?

दोस्तो जब आप अपने ब्राउज़र पर किसी वेबसाइट का यूआरएल डालकर सर्च करते है, तो सबसे पहले आपकी रिक्वेस्ट आपके आईएसपी यानी की इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर के पास जाती है, जहां पर आपकी Online Identity, 
 
Location, Device Id और Data Request जैसी तमाम डिटेल्स चेक की जाती है, और जिसके बाद आपको उस वेबसाइट के सर्वर से जोड़ा जाता है, उसके बाद उस वेबसाइट और आपके बीच डाटा का आदान प्रदान होता है, और यह सब ISP के द्वारा होता है, 
 
ऐसे में आपका कोई भी डाटा गोपनीय नही होता है, इसके अलावा आपका Network भी पूरी तरह से सुरक्षित नहीं होता है, जिसे डाटा चोरी होने का खतरा बना रहता है, इसके अलावा Restriction भी एक बड़ी समस्या होती है, जोकि आपको Blocked Website से Access करने से रोकती है, 
 
देखा जाए तो आपको Freedom, Security, Data, और Privacy जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है, लेकिन इसके विपरित VPN आपको इन सभी समस्याओं से बचाता है, आइए VPN की कार्य प्रणाली के बारे में जानकारी प्राप्त करते है।
 

VPN की कार्य प्रणाली

दोस्तो उदाहरण के लिए आप मेरी इस व्यक्ति को अपने ब्राउजर में ओपन करना चाहते हैं तो उसके लिए पहले आपको मेरी वेबसाइट Infoshindi.com को अपने ब्राउजर पर सर्च करना होगा, आप जेसे ही इस वेबसाइट को सर्च करेंगे, आपकी रिक्वेस्ट VPN Server के पास जायेगी, 
 
और आपके फोन से रिक्वेस्ट के रूप में डाटा जायेगा, वह Encrypted होगा, और यह एक सिक्योर टनल के द्वारा भेजा जाएगा, साथ ही आपकी ऑनलाइन आइडेंटिटी पूरी तरह सुरक्षित और गुप्त रहेगी और आपकी लोकेशन भी गुप्त रहेगी।
 
क्योंकि Data और Server Location आपके स्मार्टफोन के बजाय VPN Server से भेजा जाएगा, लेकिन जैसे ही आप डाटा VPN Server के पास जाएगा, वह डाटा Decrypt हो जायेगा, उसके बाद VPN आपकी रिक्वेस्ट Infoshindi के सर्वर पर भेजेगा, 
 
और वहां से जो Access मिलेगा, उसे वापिस Encrypt कर देगा, और VPN के सुरक्षित कनेक्शन के द्वारा आपके फोन पर भेजेगा, अब आपके फोन में जो VPN Software है, वह उस डाटा को Decrypt कर देगा, ताकि आप उसे पढ़ सके,
 
इस प्रकार से आपके ISP को कभी भी पता नहीं चलेगा की आप ब्राउजर पर क्या सर्च कर रहे है, और आपने कौनसी वेबसाइट विजित की है, और वहां पर क्या क्या Activities की है, आइए अब जानते है, की VPN का इस्तेमाल कैसे करें।
 

VPN का इस्तेमाल कैसे करें?

दोस्तो VPN का इस्तेमाल करना बहुत ही ज्यादा आसान है, आप बड़ी आसानी से कंप्यूटर और मोबाइल में वीपीएन का इस्तेमाल कर सकते है, आइए पहले जानते है, की कंप्यूटर में वीपीएन का इस्तेमाल कैसे करें।
 

कंप्यूटर में वीपीएन का इस्तेमाल कैसे करें?

  • कंप्यूटर में वीपीएन का इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहला अपना पसंदीदा वीपीएन सॉफ्टवेयर सर्च करें।
  • वीपीएन सर्च करने के बाद वीपीएन सॉफ्टवेयर को अपने कंप्यूटर या लैपटॉप में इंस्टॉल करें।
  • दोस्तो वीपीएन सॉफ्टवेयर इंस्टॉल करने के बाद अब अपने पसंदीदा सॉफ्टवेयर में अपनी गूगल आईडी से Signup करें।
  • दोस्तो वीपीएन सॉफ्टवेयर में साइनअप करने के बाद VPN Software को Enable कर दे।
  • दोस्तो इस प्रकार से आप अपने कंप्यूटर या लैपटॉप में वीपीएन को एक्टिवेट कर सकते है।
  • दोस्तो अगर आप चाहे तो VPN Server Location भी चेंज कर सकते है।
दोस्तो इस प्रकार से आप कंप्यूटर में वीपीएन का इस्तेमाल कर सकते है, आइए अब जानते है की कंप्यूटर के लिए बेस्ट वीपीएन कौन से है।
 

कंप्यूटर के लिए बेस्ट वीपीएन कौन से है?

दोस्तो वैसे तो कंप्यूटर के लिए बहुत से वीपीएन सॉफ्टवेयर मौजूद है, लेकिन उनमें से कुछ फ्री है तो कुछ पैड है, हम कुछ वीपीएन सॉफ्टवेयर के बारे में बताने वाले है, जोकि इस प्रकार है –
  1. Finch VPN
  2. Open VPN
  3. Cyber Ghost
  4. Hotspot Shield
  5. Total VPN 
  6. Surf Easy 

मोबाइल में वीपीएन का इस्तेमाल कैसे करें?

  • मोबाइल में वीपीएन का इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले गूगल प्लेस्टोर से वीपीएन ऐप डाउनलोड करें।
  • मोबाइल से वीपीएन एप डाउनलोड करने के बाद वीपीएन ऐप ओपन करें और अपनी मनचाही लोकेशन सेटअप करें।
  • लोकेशन सेट करने के बाद Connect के विकल्प पर क्लिक करके VPN को अपने मोबाइल ब्राउजर से कनेक्ट करें।
  • दोस्तो जब आपके मोबाइल ब्राउजर से VPN कनेक्ट हो जाता है, तो अब आप VPN को एक्टिवेट कर सकते है।
दोस्तो इस प्रकार से आप मोबाइल में वीपीएन को एक्टिवेट कर सकते हैं, आइए दोस्तो अब जानते है की मोबाइल के लिए बेस्ट वीपीएन कौन से है।
 

मोबाइल के लिए बेस्ट वीपीएन कौन सा है?

दोस्तो वैसे तो मोबाइल के लिए भी गूगल प्लेस्टोर पर बहुत से वीपीएन सॉफ्टवेयर मौजूद है, लेकिन उनमें से कुछ फ्री है तो कुछ पैड है, लेकिन हम आपको कुछ बेस्ट वीपीएन के बारे में बताने वाले है, जोकि इस प्रकार है –
  1. Nord VPN
  2. Tiger VPN
  3. Safer VPN
  4. Express VPN
  5. Buffered VPN

VPN का इस्तेमाल किसे करना चाहिए?

दोस्तो अब आप सोच रहे होंगे की आपको VPN का इस्तेमाल करना चाहिए या नहीं, तो हम आपको बताना चाहेंगे की हर उस यूजर को VPN का इस्तेमाल करना चाहिए, जोकि अपने मोबाइल ब्राउजर पर नेट बैंकिंग, स्टॉक मार्केट, 
 
सरकारी एजेंसी, क्रिप्टो करेंसी जैसी जानकारी संवेदन शील वेबसाइट के साथ आदान प्रदान करता हो, अर्थात कोई भी यूजर अगर ब्राउजर पर अपने बैंक डिटेल या डेबिट कार्ड डिटेल डाल रहा है, 
 
तो उसको पहले VPN को एक्टिवेट कर लेना चाहिए, अगर कोई व्यक्ति ब्राउजर का ज्यादा इस्तेमाल नहीं करता है, और वह कभी कभी ब्राउजर का उपयोग करता है तो उसे VPN का इस्तेमाल करने की कोई जरूरत नही है।
 
क्या फ्री वीपीएन का इस्तेमाल करना चाहिए?
दोस्तो जैसा की ऊपर आपको बताया है, की अगर आप ब्राउजर पर अधिकतर बैंकिंग से संबंधित चीजों का आदान प्रदान करते है, तो ऐसे में आपको वीपीएन का इस्तेमाल करना चाहिए, लेकिन ज्यादातर फ्री वीपीएन विश्वसनीय नहीं होते हैं, 
 
फ्री VPN आपके डाटा को पूरी तरह से सिक्योर और सुरक्षित नहीं करते हैं, इसके अलावा यह आपके डेटा को तीसरे पक्ष के साथ भी साझा कर सकते हैं ऐसे मै आपको फ्री वीपीएन का इस्तेमाल करने से बचना चाहिए और प्रीमियम वीपीएन का इस्तेमाल करना चाहिए।
 

वीपीएन के फायदे क्या है?

दोस्तो वीपीएन का इस्तेमाल करने के कई सारे फायदे है, जोकि शायद आपको पता नही होंगे, हम आपको बताना चाहेंगे की वीपीएन के कई सारे फायदे है, जोकि इस प्रकार है –
 
1) Privacy: जो लोग अपनी प्राइवेसी को लेकर हमेशा चिंतित रहते है, उनके लिए VPN एक अच्छा विकल्प है, क्योंकि VPN हमेशा यूजर्स की आइडेंटिटी, लोकेशन को छुपा देता है, साथ में VPN की मदद से आप अपना आईपी एड्रेस भी छुपा सकते है।
 
2) Security: दोस्तो आजकल आए दिन ऑनलाइन फ्रॉड, स्कैम, हैकिंग और डाटा चोरी जैसी घटनाएं होती रहती है, ऐसे में अगर आप इन सभी से बचना चाहते हैं तो ऐसे में आपको वीपीएन का इस्तेमाल करना होगा क्योंकि वीपीएन आपको ऑनलाइन सुरक्षा प्रदान करता है।
 
3) High Performance: दोस्तो आपने कुछ वेबसाइट्स पर Slow Performance का अनुभव जरूर किया होगा, यह Bandwidth Throttling या Data Throttling के कारण होता है, जिसके कारण आपके फोन की इंटरनेट स्पीड थोड़ी स्लो हो जाती है, 
 
जिसके कारण परफॉमेंस भी स्लो हो जाता है, इसके विपरित VPN इस समस्या को दूर करने में सक्षम होता है, क्योंकि VPN आपके फोन की इंटरनेट स्पीड को एंक्रीज कर देता है, जिसके कारण परफॉमेंस हाई हो जाता है।
 
4) Freedom Of Internet: दोस्तो VPN की खास बात यह है, की VPN आपको Freedom of Internet अर्थात इंटरनेट पर कुछ भी सर्च करने की आजादी प्रदान करता है, अगर आपने अपने मोबाइल में वीपीएन एक्टिवेट किया है, तो आप अपने मोबाइल ब्राउजर पर कुछ भी सर्च कर सकते है।
 
5) Bypass Restrictions: दोस्तो यह VPN का चौथा महत्वपूर्ण फायदा है, VPN आईएसपी के द्वारा लगाए गए Restrictions को Bypass करता है, जिससे आप प्रतिबंधित वेबसाइट को एक्सेस कर सकते है, दोस्तो उदाहरण के लिए वेबसाइट इंडिया में बैन है,
 
परंतु आप उसे विजिट करना चाहते है, तो आप वीपीएन की मदद से उस वेबसाइट को अपने ब्राउजर में ओपन कर सकते है, क्योंकि VPN प्रतिबंधित वेबसाइट को एक्सेस करने की अनुमति देता है।
 
दोस्तो वीपीएन के यह प्रमुख फायदे है, जिनके बारे में अब आपको जानकारी मिल गई होगी, आसा करते है की आपको वीपीएन क्या होता है (VPN Kya hota hai) से संबंधित यह जानकारी पसंद आई होगी।
 

VPN Kya hota hai से संबंधित FAQS

VPN क्या होता है?

दोस्तो VPN का पूरा नाम वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क है, VPN एक ऐसी सेवा है जीसकी मदद से आप ब्राउजिंग के दौरान अपने डाटा को चोरी होने से बचा सकते है, अपनी लोकेशन छुपा सकते है, और आप हैकिंग से बच सकते है, इसके अलावा आप अपना आईपी एड्रेस भी छुपा सकते है।

वीपीएन का फुल फॉर्म क्या है?

वीपीएन का फुल फॉर्म Virtual Private Network होता है, जिसको हिंदी में आभासी निजी संजाल कहा जाता है।

वीपीएन कितना सुरक्षित है?

वीपीएन एक सुरक्षित तरीका है वीपीएन की मदद से आप अपने डाटा को चोरी होने से बचा सकते हैं, साथ-साथ आप अपनी लोकेशन भी छुपा सकते हैं, वीपीएन का उपयोग करने के लिए आपको गूगल प्ले स्टोर से वीपीएन एप्लीकेशन डाउनलोड करनी होगी, अगर आप अपने डाटा को पूरी तरह से सुरक्षित रखना चाहते हैं तो आपको प्रीमियम वीपीएन खरीदना चाहिए।

वीपीएन का इस्तेमाल किसे करना चाहिए?

VPN का इस्तेमाल उन लोगों को करना चाहिए जो लोग अपने ब्राउज़र पर नेट बैंकिंग बैंक के अकाउंट नंबर और डेबिट कार्ड नंबर आदान प्रदान करते हैं ऐसे लोगो के लिए वीपीएन बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण है।

सबसे अच्छा वीपीएन कौन सा है?

दोस्तो Turbo VPN और Secure VPN सबसे अच्छा वीपीएन माना जाता है, इसके अलावा Proton VPN, Cloudflare VPN भी अच्छे वीपीएन माना जाता है।

निष्कर्ष: 

दोस्तो आसा करते है, की आपको हमारे द्वारा वीपीएन क्या होता है (VPN Kya hota hai) से संबंधित जानकारी दी गई है, इसके अलावा हमारे द्वारा VPN Full Form in hindi से संबंधित जानकारी भी दी गई है, 
 
अगर यह जानकारी आपको पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों तक अवश्य शेयर करें, और अगर आपके मन में कोई सवाल या हो तो आप हमें कमेंट के माध्यम से बता सकते है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!